ताज़ा खबर
 

दिल्ली के बाद उत्तराखंड में भी Maggi Noodles पर प्रतिबंध लगाने का फैसला

Maggi Noodles Row: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा 'मैगी विवाद' मामले में अधि‍कारियों के साथ बैठक कर रहे हैं।
Author June 4, 2015 12:53 pm
वापस लौटने के वादे के साथ नेस्ले ने मैगी को बाजार से हटाने का फैसला किया

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ‘मैगी विवाद’ मामले में अधि‍कारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में बुलाई गई इस बैठक में वरिष्ठ अधि‍कारियों ने हिस्सा लिया। केंद्र ने इस बाबत सभी राज्यों से रिपोर्ट मांगी है। बैठक से पहले बुधवार को जेपी नड्डा ने कहा कि सभी राज्यों से रिपोर्ट मिलने के बाद ही मामले में कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, दिल्ली सरकार ने भी नेस्ले के मैगी नूडल पर तत्काल प्रभाव से 15 दिनों के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कंपनी को दो सप्ताह का समय अपना पुराना स्टॉक बदलने के लिए दिया गया है। नया स्टॉक बाजार में उतारने पर फिर से नमूने लेकर जांच होगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही दिल्ली सरकार बाजार में मौजूद अन्य कंपनियों के नूडल की भी जांच करेगी।

मैगी नूडल्स के नमूने प्रयोगशाला जांच में फेल हो जाने के बाद अन्य कई राज्यों की तरह उत्तराखंड में भी इसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया है।

प्रदेश के प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) ओम प्रकाश ने भाषा को बताया कि मैगी नूडल्स के परीक्षण के वास्ते लिये गये 300 नमूनों में से दो नमूनों के जांच में फेल हो जाने के बाद कल देर रात खाद्य सुरक्षा विभाग ने जनहित में उसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है ।

उन्होंने बताया कि उधमसिंह नगर जिले के रू्रदपुर में की गयी प्रयोगशाला जांच के दौरान मैगी नूडल्स के नमूनों में मोनोसोडियम ग्लूटामेट की मौजूदगी पायी गयी जिसके बाद उसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया ।
स्वास्थ्य सचिव ने कहा, ‘‘मामला जनता के स्वास्थ्य से जुड़ा होने के कारण हमने खाद्य पदार्थ पर तुरंत प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है । हालांकि, प्रतिबंध लगाने और बाजार से उत्पाद को तुरंत हटाये जाने के बारे में औपचारिक आदेश आज जारी होगा ।’’

READ- Maggi Noodles मुश्किल में: जांच का खेल- ‘कहीं पास कहीं फेल’

 

ओमप्रकाश ने हालांकि कहा कि जांचे गये नमूनों में सीसा नहीं पाया गया है और रू्रदपुर प्रयोगशाला में भेजे गये 300 नमूनों में से ज्यादातर की रिपोर्ट अभी नहीं आयी है ।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से एकत्रित किये गये मैगी नूडल्स के नमूनों की जांच रिपोर्ट आने के बाद उन्हें अंतिम जांच के लिये कोलकाता भेजा जायेगा ।

प्रमुख सचिव ने कहा कि शहर में स्थित बिग बाजार जैसे बड़े प्रतिष्ठानों ने अपने स्टोर्स से मैगी नूडल्स के पैकेट पहले ही हटा दिये हैं जबकि छोटे दुकानदारों को ऐसा करने में कुछ समय लगेगा ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.