ताज़ा खबर
 

अमित शाह से रामविलास पासवान ने पूछा- नीतीश हमारे क्‍या हैं? मिला ये जवाब

अपने बेटे चिराग पासवान के साथ अमित शाह से मिलने गये रामविलास पासवान ने अमित शाह से जानना चाहा कि उन्हें नीतीश कुमार को क्या मानना चाहिए भविष्य का सत्ता का साझीदार या फिर राजनीतिक विरोधी
सीएम नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव पर लगे करप्शन के आरोपों पर राहुल गांधी से मुलाकात की (फोटो-EXPRESS PHOTO BY PRAVEEN KHANNA 10 02 2017)

केन्द्रीय मंत्री और बिहार के वरिष्ठ नेता रामविलास पासवान सोमवार 23 जुलाई बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिलने पहुंचे तो उनके पास अमित शाह के लिए एक उलझाने वाला सवाल था। अपने बेटे चिराग पासवान के साथ अमित शाह से मिलने गये रामविलास पासवान ने अमित शाह से जानना चाहा कि उन्हें नीतीश कुमार को क्या मानना चाहिए भविष्य का  सत्ता का साझीदार या फिर राजनीतिक विरोधी, जिस पर की जरूरत पड़ने पर हमला किया जा सके। दरअसल संसद में लगातार पैदा हो रहे हंगामे की वजह से एलजेपी जैसी पार्टियों के लिए ये दिक्कत हो रही है कि जेडीयू पर राजनीतिक वार किया जाए या फिर चुप रहा जाए। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने राम विलास पासवान को कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया, सिर्फ इतना कहा कि रामविलास पासवान बहुत अच्छा काम कर रहे हैं इसे वे जारी रखें।

रिपोर्ट के मुताबिक राम विलास पासवान ने इस जवाब का मतलब मिला जुला समझा है। बता दें कि आरजेडी के साथ राजनीतिक पारी खत्म करने और बीजेपी के साथ पुरानी दोस्ती को फिर से शुरू करने के मसले पर बिहार के मुख्यमंत्री ऐसा ही मिला जुला जवाब दे रहे हैं। हाल के दिनों में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कई नोटबंदी, राष्ट्रपति चुनाव जैसे अहम मुद्दों पर बीजेपी का साथ देकर राजनीतिक गलियारों में कयासों का बाजार गर्म कर चुके हैं। इस नयी राजनीतिक गोलबंदी को तब और बल मिला जब बिहार के डिप्टी सीएम और लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव पर करप्शन के आरोप लगे। नीतीश ने इस मामले पर आरजेडी से सफाई मांगी, बाद में खुद डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव नीतीश कुमार से भी मिले। हाल में दिल्ली पहुचे नीतीश कुमार ने इस मसले पर महागठंबधन में साझीदार कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात की।

ऐसा माना जाता है कि बिहार में आरजेडी के साथ गठबंधन टूटने की हालत में बीजेपी नीतीश कुमार को बाहर से समर्थन दे सकती है। बीजेपी ने ऐसे संकेत भी दिये हैं। कुछ ही दिन पहले बिहार बीजेपी के एक बड़े नेता ने कहा था कि बीजेपी नीतीश कुमार को बाहर से समर्थन देने के लिए तैयार है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा था कि इस मामले पर आखिरी फैसला पार्टी आलाकमान करेगी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग