ताज़ा खबर
 

लालू प्रसाद यादव का नाती और वित्त मंत्री अरुण जेटली की बेटी पहुंची संसद, देखी सदन की कार्यवाही

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को संसद में बजट पेश किया।
Author नई दिल्ली | February 1, 2017 18:09 pm
मीसा भारती अपने बेटे को शीतकालीन सत्र में भी संसद लेकर पहुंची थीं। ( Photo Source: Twitter)

संसद में बुधवार को दर्शक दीर्घा में बैठकर अपने पिता अरुण जेटली को बजट पेश करते हुए सोनाली जेटली देख रही थीं। इनके अलावा संसद में आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के नाती भी पहुंचे थे। हालांकि, उन्हें दर्शक दीर्घा में नहीं ले जाया गया था, लेकिन उन्होंने सदन की कार्यवाही पार्लियामेंट लॉबी से देखी। लालू यादव का नाती अपने मां आरजेडी सांसद मीसा भारती के साथ पहुंचा था। लालू का नाती जैसे ही अपनी मां के साथ पहुंचा तो सभी पार्टियों के सांसदों ने उसका दुलार किया और उसके साथ तस्वीर के लिए पोज दीं। हालांकि, अभी मीसा के बेटे का नाम नहीं रखा गया है, लेकिन मीसा उन्हें छोटू कहती हैं। मीसा सदन के अंदर अपने उपस्थिती दर्ज कराने गई थीं, उसके बाद वे वापस लॉबी में उसके पास आ गईं।

बता दें, मीसा भारती अपने बेटे को शीतकालीन सत्र के पहले दिन भी लेकर पहुंची थीं। भारती ने उस वक्त कहा था कि मैं इसे लगातार संसद लेकर आती रहूंगी, अगर ऐसा नहीं किया तो इसे खाना कैसे खिलाऊंगी। जब उनसे अपने बेटे के नाम के बारे में पूछा गया था कि उन्होंने कहा था कि अभी उसका नाम नहीं रखा गया है। हालांकि, कुछ सांसदों और पत्रकारों ने उसका नाम ‘नोटबंदी’ रखने का सुझाव दिया था।

लालू प्रसाद यादव जब 1974 में मैनटेंनेंस ऑफ इंटरनल सिक्यूरिटी एक्ट के तहत जेल गए थे, तभी मीसा का जन्म हुआ था, तो ऐसे में लालू ने उनका नाम मीसा रखा था। भारती साल 2014 का लोकसभा चुनाव पाटलीपुत्र से हार गई थीं, उसके बाद उन्हें राज्यसभा सांसद बनाया गया था।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को संसद में केंद्रीय बजट पेश करते हुए जहां मिडिल क्लास को टैक्स में थोड़ी राहत दी है, वहीं राजनीतिक चंदे को लेकर अहम घोषणा की है। बजट में ढाई लाख से पांच लाख रुपए तक की सैलरी वालों को ब्याज दर में पांच फीसद की छूट दी है। यह ब्याज दर पहले दस फीसद थी। इसके साथ ही अब राजनीतिक दल 2 हजार रुपए से ज्यादा का चंदा कैश में नहीं ले पाएंगे। साथ ही तीन लाख रुपए से ऊपर के कैश लेन-देने पर भी रोक लगा दी गई। ऐसे में तीन लाख रुपए से ज्यादा का लेन देन कैश में नहीं किया जा सकेगा।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017: किसके बीच है मुकाबला, कौन रहा है विजेता जानिये

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग