ताज़ा खबर
 

केरल के पादरी ने मुस्लिम महिला को डोनेट की किडनी, पांच साल पुरानी एक घटना ने किया प्रेरित

किडनी प्राप्त करने वाली कैरुनिसा बीमारी से पिछले तीन सालों से जूझ रही थीं।
किडनी देने वाले शिबू योहानन और पीड़िता कैरुनिसा

क्रिसमस डे आने को है और इस दिन सैंटा क्लॉज लोगों को गिफ्ट देकर खुशियां बांटता है। लेकिन केरल में एक ईसाई पादरी ने अपनी एक किडनी देकर जान बचाने के बड़ा तोहफा दिया। बुधवार को ईसाई पादरी शिबू योहानन ने 29 वर्षीय और एक बच्चे की मां कैरूनिसा को एक किडनी डोनेट कर उसकी जान बचाई। 39 साल के शिबू योहानन वयनद के जैकोबाइट चर्च में पादरी हैं और वह Davis Chiramel नाम के मशहूर पादरी से काफी प्रेरित हैं। दरअसल Davis Chiramel केरल के पहले पादरी थे जिन्होंने किसी अंजान शख्स को अपनी किडनी डोनेट की थी। डेविस ने पांच साल पहले ऐसा किया था, जिसकी कहानी सुन शिबू योहानन भी काफी प्रभावित हुए।

किडनी प्राप्त करने वाली कैरुनिसा त्रिशूर के चवक्कड़ इलाके की रहने वाली हैं। वह किडनी की बीमारी से पिछले तीन सालों से जूझ रही थीं। जानकारी के मुताबिक, पिछले डेढ़ साल से वह डायलिसिस पर जी रही थीं। रिपोर्ट्स की मानें तो कैरुनिसा काफी समय से ऐसे शख्स की तलाश कर रही थीं जो उन्हें किडनी डोनेट कर सके। वहीं, ईसाई पादरी ने खुद को फादर Chiramel के किडनी फेडरेशन ऑफ इंडिया में रजिस्ट्रेशन किया हुआ था, जिसके बाद दोनों की किडनी मैच कर गईं।

किडनी का ट्रांसप्लांट बुधवार को कोच्ची के VPS Lakeshore हॉस्पिटल में किया गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि योहानन इस इलाके में पहले से समाजसेवा के काम करते आ रहे हैं। उन्होंने हाल ही में कैंसर पीड़ितों के लिए 25 लाख रुपए जुटाने का काम भी किया था।

अब कैश नहीं चेक या अकाउंट में ही आएगी सैलरी; अध्यादेश पर कैबिनेट की मुहर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.