ताज़ा खबर
 

कश्मीर में हिंसा: पुलिस फायरिंग में 2 प्रदर्शनकारियों की मौत, 45 से ज्यादा जख्मी

कश्मीर के शापियां और अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुए संघर्ष में दो लोगों की मौत हो गई है जबकि 45 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।
Author श्रीनगर | September 10, 2016 15:30 pm
प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प।

कश्मीर में सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच लगातार झड़प जारी है। कश्मीर के शापियां और अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुए संघर्ष में दो लोगों की मौत हो गई है जबकि 45 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। शनिवार को शोपियां के टुकरो गांव में सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई। प्रदर्शन कर रहे लोगों को काबू में करने के लिए पुलिस को पैलेट गन और स्मोक शैल्स का इस्तेमाल करना पड़ा। इस हमले में 26 साल के सायर अहमद शेख की मौत हो गई है। फायरिंग के दौरान शेख के सिर पर टीयर स्मोक शैल लगा गया था, जिसके बाद शनिवार को उसकी मौत हो गई। स्थानीय लोगों का कहना है कि 30 से ज्यादा लोग पैलेट गन से जख्मी हुए हैं।

वहीं अनंतनाग के बोटेंगो गांव में पुलिस और सुरक्षाबलों की फायरिंग में एक और नौजवान की मौत हो गई है। पुलिस को उग्र प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पैलेट गन का इस्तेमाल करना पड़ा। पुलिस सूत्रों के मुताबिक यावर मुश्ताक के सीने और पेट में पैलेट लगी थी। वहीं 10 से ज्यादा प्रदर्शनकारी घायल बताए जा रहे हैं। कश्मीर के हिल्लर डोरू गांव में एक दूसरे मामले में 5 नागरिक पैलेट गन से घायल हो गए हैं।

गौरतलब है कि 8 जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर में हिंसा और तनाव भड़की हुई है। कश्मीर में जारी हिंसा में अब तक 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और हजारों की संख्या में लोग घायल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी घाटी में शांति बनाए रखनी की अपील की थी। वहीं हाल ही में कश्मीर में तनाव कम करने और शांति स्थापित करने के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल भी कश्मीर गया था। हालांकि अलगावादियों ने प्रतिनिधियों से मिलने से मना कर दिया था। जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती को भी प्रदर्शनकारियों के गुस्सा के सामना करना पड़ा था। हाल ही में हिंसा में मारे गए एक लड़के के परिवार से मिलने मुफ्ती पहुंचे थी लेकिन प्रदर्शनकारियों की नाराजगी के चलते वापस आना पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    rahul
    Sep 10, 2016 at 11:50 am
    अब समय आ गया है बिना दुनियां की परवाह किए इन उपद्रवियों को देखते ही मारने का आदेश जारी हो और हो सके तू महबूबा को हटाकर जगमोहन जैसा गवर्नर खोजें इतने बड़े बहुमत के बाद भी मोदी सरकार का रीढ विहीन पिलपिलापन रवैया आश्चर्य पैदा करता है
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग