ताज़ा खबर
 

कश्मीर: अलगाववादी सैयद अली शाह गिलानी के दामाद समेत तीन को NIA ने लिया हिरासत में

एनआईए द्वारा हिरासत में लिए गए अयाज अकबर, अलताफ शाह और मेहराज उद्दीन कलवल हुर्रियत कांफ्रेंस (गिलानी) के नेता हैं।
कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी। (Photo:PTI)

कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद समेत तीन लोगों को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार (28 जून) को हिरासत में लिया। एनआईए द्वारा हिरासत में लिए गए अयाज अकबर, अलताफ शाह और मेहराज उद्दीन कलवल हुर्रियत कांफ्रेंस (गिलानी) के नेता हैं। अलताफ शाह गिलानी का दामाद है। इसी महीने एनआईए ने इन सभी हुर्रियत नेताओं के घरों पर छापा मारा था। इन तीनों को बुधवार (28 जून) को नई दिल्ली में जांच एजेंसी से पूछताछ के लिए हाजिर होना था। एनआईए जम्मू-कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान से मिलने वाली आर्थिक मदद की जांच कर रही है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जम्मू कश्मीर में विध्वंसक गतिविधियों में लश्कर-ए-तैयबा के अध्यक्ष हाफिज सईद और कट्टरपंथी कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की भूमिका की जांच कर रही है। एनआईए कश्मीरी अलगाववादी नेता नईम खान के खिलाफ भी आतंकवादी संगठनों से पैसा लेने की जांच कर रही है। एक निजी टीवी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में कथित तौर पर नईम खान को आतंकवादी संगठनों से पैसा लेने की बात स्वीकार करते दिखाया गया था।

जम्मू-कश्मीर में पिछले साल आठ जुलाई को हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद हिंसा का दौर जारी है। पिछले एक साल में घाटी में हुई हिंसक झड़पों में 90 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। पिछले एक साल में घाटी में पत्थरबाजी की घटना काफी बढ़ी है। पत्थरबाजी में स्कूली छात्र और छात्राएं भी शामिल देखे गए। गिलानी समेत कई अन्य कश्मीरी अलगाववादी नेताओं पर आरोप है कि वो पाकिस्तान एवं अन्य आतंकवादी संगठनों से पैसा लेकर कश्मीर में अशांति को बढ़ावा दे रहे हैं। कुछ निजी टीवी चैनलों ने कुछ पत्थरबाजों के स्टिंग वीडियो दिखाए थे जिनमें वो पाकिस्तान से पैसा लेने की बात स्वीकार करते दिखाए गए थे। हालांकि अलगाववादी संगठन इन आरोपों को बेबुनियाद बताते रहे हैं।

वीडियो- बुरहान वानी समेत कई आतंकियों की तस्वीर के साथ ईद मुबारक के पोस्टर लगे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.