ताज़ा खबर
 

कन्हैया, उमर की हत्या के लिए पक्की हुई थी 10 लाख डील, एडवांस देने के लिए जानी ने लिया लोन

देशद्रोह के आरोपी जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को जान से मारने की धमकी के केस में एक और नया खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों की मानें तो कन्हैया कुमार और उमर खालिद को मारने के लिए नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी और जेएनयू के दो छात्रों के बीच दस लाख रुपए की डील की थी।
Author नई दिल्ली | April 20, 2016 11:55 am
देशद्रोह के आरोपी जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को जान से मारने की धमकी के केस में एक और नया खुलासा हुआ है।

देशद्रोह के आरोपी जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को जान से मारने की धमकी के केस में एक और नया खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों की मानें तो कन्हैया कुमार और उमर खालिद को मारने के लिए नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी और जेएनयू के दो छात्रों के बीच दस लाख रुपए की डील की थी।

बताया जा रहा है कि अमित जानी ने दोनों छात्रों को पिस्टल और एडवांस के तौर पर दो लाख रुपये भी दे दिये थे। इन दो में एक अमित जानी का छोटा भाई सौरभ बताया जा रहा है। गौरतलब है कि सोमवार को पुलिस ने आईएसबीटी से जेएनयू जा रही एक बस में गोलियों से भरा हुआ पिस्तौल और एक पत्र मिला, जिसमें यह धमकी दी गई थी।

उनकी पहचान सुलभ और सौरभ के रूप में हुई है। हाल ही दोनों को अदालत में पेश किया गया था, जिसने उन्हें दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।’ पुलिस ने बताया कि सौरभ उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के प्रमुख अमित जानी का छोटा भाई है, जिसने कन्हैया और उमर को धमकी भरा पत्र लिखा था।

गौरतलब है कि जानी ने पहले भी फेसबुक पोस्ट के माध्यम से कन्हैया को जान से मारने की धमकी दी है। अब पुलिस जांच में सामने आया है कि अमित जानी ने एडवांस पैसे देने के लिए बैंक से लोन भी लिया था। साथ ही बाकी के 8 लाख रुपये दोनों की हत्या के बाद देने की बात तय की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.