December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

गौमांस पर टिप्पणी को लेकर जस्टिस काटजू को नोटिस

आरोप लगाया गया है कि न्यायमूर्ति काटजू ने हिन्दूओं की इस आस्था पर प्रहार किया है।

Author इलाहाबाद | October 19, 2016 15:35 pm
सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्केंड काटजू

एक स्थानीय अदालत ने उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश मार्केंडय काटजू को गोमांस के सवेन के बारे में की गयी टिप्पणी पर आज नोटिस जारी किया। इस संबंध में दायर याचिका में उनपर अपने ब्लॉग पर किए गए पोस्ट में गोमांस खाने को लेकर कर ‘‘आपत्तिजनक’’ टिप्पणियां करने का आरोप लगाया गया है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश शुची श्रीवास्तव ने राकेश नाथ पांडे की पुनरीक्षा याचिका पर नोटिस जारी किया। इसमें आरोप लगाया गया है कि न्यायमूर्ति काटजू ने हिन्दूओं की इस आस्था पर प्रहार किया है कि गाय पवित्र है। इसके साथ ही उन्होंने उस कानून को रद्द करने की मांग की थी जिसके तहत कई राज्यों में गौवध पर प्रतिबंध है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ने न्यायमूर्ति काटजू से कहा है कि वह 18 नवंबर को होने वाली अगली सुनवाई में अपना जवाब दाखिल करें।

जस्टिस काटजी और अमिताभ बच्चन के विवाद पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करें।

पांडे ने याचिका दायर कर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश को चुनौती दी थी जिसमें न्यायमूर्ति काटजू के खिलाफ पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराने के निर्देश देने की गुजारिश को नकार दिया था।पिछले साल जनवरी मेंं जब से महाराष्ट्र में गाय का मांस रखने तथा बेचने पर पांच साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान किया गया था तब से भारतीय प्रेस परिषद् के पूर्व अध्यक्ष न्यायाधीश काटजू ने गाय काटने और गाय के मांस के साम्प्रदायिक तौर पर संवेदनशील मुद्दे पर कई विवादित बयान दिए थे।

इससे पहले जस्टिस काटजू ने टीवी एंकर अर्नब गोस्वामी को वाई श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने की खबर पर भी आपत्ति जताई थी। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कण्डेय काटजू ने तो सरकारी खर्चे पर सुरक्षा देने पर सवाल खड़ा करते हुए अर्नब को “जोकर” तक कह दिया। काटजू ने ट्वीट करके कहा, “इस जोकर अर्नब गोस्वामी से सिर के अंदर घमंड के अलावा कुछ नहीं है, अब सरकार 20 गार्ड दिन-रात उसकी सुरक्षा के लिए देगी। उसकी सुरक्षा के लिए।” एक अन्य ट्वीट में काटजू ने पूछा है, “अर्नब को उनके नियोक्ता से मोटी तनख्वाह मिलती होगी, तो वो अपनी सुरक्षा का खर्च खुद क्यों नहीं उठाते?”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 19, 2016 3:29 pm

सबरंग