ताज़ा खबर
 

CM खट्टर के करीबी जवाहर यादव बोले- JNU में देशद्रोही नारे लगाने वाली महिलाओं से वेश्‍या बेहतर

जवाहर यादव ने लिखा था, 'जेएनयू में जो महिलाएं राष्‍ट्रविरोधी नारे लगा रही थीं, उनके लिए मैं सिर्फ इतना ही कहना चाहूंगा कि आप लोगों से तो वेश्‍या भी बेहतर हैं, जो अपना शरीर बेचती हैं, लेकिन देश नहीं।'
Author नई दिल्‍ली | February 14, 2016 10:39 am
हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के साथ उनके पूर्व ओएसडी और हरियाणा हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन जवाहर यादव।

हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के पूर्व ओएसडी और हरियाणा हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन जवाहर यादव ने जेएनयू मामले पर लिखा अपना विवादित ट्वीट वापस ले लिया है। यादव ने लिखा था, ‘जेएनयू में जो महिलाएं राष्‍ट्रविरोधी नारे लगा रही थीं, उनके लिए मैं सिर्फ इतना ही कहना चाहूंगा कि आप लोगों से तो वेश्‍या भी बेहतर हैं, जो अपना शरीर बेचती हैं, लेकिन देश नहीं।’ जवाहर यादव ने अपने नए ट्वीट में लिखा, ‘मेरे द्वारा किए गए पिछले ट्वीट में किसी भी छात्रा की तुलना तवायफ से नहीं की गई है। बल्कि जो बहन और बेटियां मजबूरीवश वेश्‍यावृत्ति अपनाने पर मजबूर हो जाती हैं, उन्‍हें उन लड़कियों से बेहतर बताया गया है, जो जेएनयू के कैंपस में देशद्रोही नारे लगा रही थी और भारत की बर्बादी तक जंग चलाने की मांग कर रही थीं। वो वेश्‍याएं और तवायफ बहन-बेटियां भी उनसे बेतहर हैं, जो मजबूरीवश अपना शरीर तो बेच देती हैं, लेकिन भारत मां को नहीं बेचती।’ जवाहर यादव ने एक और ट्वीट में राहुल गांधी पर भी निशाना साधा है। उन्‍होंने राहुल गांधी से पूछा, ‘जेएनयू में राहुल गांधी देश भक्‍तों के समर्थन के लिए गए थे या देशद्रोहियों के लिए। राहुल गांधी जवाब दें?।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    ritesh
    Feb 14, 2016 at 12:45 pm
    फ्रीडम ऑफ़ स्पीच है भाई !! किउन गलत कहा क्या ????
    (0)(0)
    Reply
    1. N
      Navin Mange
      Feb 15, 2016 at 4:21 am
      मेरा एक निवेदन है जबानी जंग से बहेतर खामोशी से ऐसा विरोध हो जो कानून तोड़ने वालो पे भारी पड जाए ओर विवाद से बचे
      (0)(0)
      Reply
      1. P
        puneet
        Feb 15, 2016 at 10:03 am
        बिलकुल ी
        (1)(0)
        Reply
        1. S
          suresh k
          Feb 14, 2016 at 6:13 am
          कुछ भी गलत नहीं कहा , एं नो इनसे लाख गुना बेहतर है
          (2)(0)
          Reply
          1. V
            vishal
            Feb 15, 2016 at 7:29 am
            Ekdm sahi bola..ye wakai me io se gyi gujri hai
            (2)(0)
            Reply
            1. V
              vinod
              Feb 14, 2016 at 10:09 pm
              भाई यहा अपना नाम लिख लेने वाला साक्षर माना जाता हैं ज़रा साफ शब्दों का प्रयोग किया करो
              (0)(0)
              Reply
              1. Load More Comments
              सबरंग