ताज़ा खबर
 

महिला धावकों से बदसलूकी और झड़पों के बीच निपटी कश्मीर में मैराथन

कश्मीर घाटी में पहली बार आयोजित अंतरराष्ट्रीय हाफ मैराथन के आयोजन पर सुरक्षा बलों और युवकों के बीच रविवार को यहां झड़पें हुईं और सत्तारूढ़ पीडीपी ने आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों ने महिला धावकों से ‘बदसलूकी और छेड़छाड़’ की जिससे मामले ने तूल पकड़ा। बदसलूकी और छेड़छाड़ के आरोप में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
Author श्रीनगर | September 14, 2015 09:14 am
श्रीनगर में रविवार को हुई अंतरराष्ट्रीय हाफ मैराथन के दौरान उत्पात मचाते युवक। (फोटो: शोईब मसूदी)

कश्मीर घाटी में पहली बार आयोजित अंतरराष्ट्रीय हाफ मैराथन के आयोजन पर सुरक्षा बलों और युवकों के बीच रविवार को यहां झड़पें हुईं और सत्तारूढ़ पीडीपी ने आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों ने महिला धावकों से ‘बदसलूकी और छेड़छाड़’ की जिससे मामले ने तूल पकड़ा। बदसलूकी और छेड़छाड़ के आरोप में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने बताया कि युवकों ने नारेबाजी की और सुरक्षा बलों पर पथराव किया जिसके बाद सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। उन्होंने बताया, ‘बाद में स्थिति नियंत्रण में आ गई।’ किसी के घायल होने की खबर नहीं है।

हजरतबल में कश्मीर विश्वविद्यालय से सुबह 21 किलोमीटर लंबी हाफ मैराथन को झंडी दिखा कर रवाना किया गया। यह मैराथन डल झील के किनारे फोरशोर रोड से होकर गुजरने वाली थी। श्रीनगर की ऐतिहासिक डल झील को बचाने के बारे में जागरूकता के लिए इस हाफ मैराथन का आयोजन किया गया था।

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के भी इस समारोह में भाग लेने का कार्यक्रम था। परिस्थिति को देखते हुए बाद में उन्होंने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया। उमर ने ट्विटर पर कहा, ‘पांच किलोमीटर लंबी दौड़ की थीम ‘सेव द डल’ थी। यह दयनीय है कि राजनीति इसके भी आड़े आ गई।’

भाजपा के साथ गठबंधन से सत्तारूढ़ पीडीपी ने दावा किया कि कुछ शरारती तत्वों ने महिला प्रतिभागियों से छेड़छाड़ और बदसलूकी की। इससे कार्यक्रम के दौरान दिक्कतें आईं। पीडीपी की युवा शाखा के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के राजनीतिक विश्लेषक वहीद पैरा ने यहां कहा, ‘कुछ लोगों ने महिला प्रतिभागियों से बदसलूकी करने की कोशिश की। छेड़छाड़ और बदसलूकी की ढेर सारी शिकायतें हैं, जो निंदनीय है।’ पुलिस ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान युवकों के एक समूह ने नारेबाजी की और बलों पर पत्थर चलाए।

पुुलिस ने कहा कि जो लोग नारेबाजी कर रहे थे और पाकिस्तानी झंडा बुलंद कर रहे थे, वही लड़कियों के साथ कथित छेड़छाड़ और बदसलूकी में शामिल थे। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम गैर सियासी था और कुछ राजनीतिज्ञों ने स्वैच्छा से इसमें अपना नाम लिखवाया था। पीडीपी युवा नेता ने कहा, ‘हम घटना की निंदा करते हैं। यह एक गैर सियासी कार्यक्रम था। कोई राजनीतिज्ञ इसमें शामिल था। पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और मेरे जैसे कुछ सियासतदानों ने स्वेच्छा से इसमें अपना नाम दर्ज कराया था।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.