ताज़ा खबर
 

Bihar Polls 2015: मांझी का दावा- ‘मैं राजग का ‘सबसे लोकप्रिय’ चुनाव प्रचारक’

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और महादलित नेता जीतन राम मांझी ने आज कहा कि बिहार चुनाव में राजग के सभी सहयोगी दलों में वे ‘सबसे लोकप्रिय चुनाव प्रचारक’ हैं। उन्होंने दावा किया कि चुनाव में राजग के अन्य घटक दलों के मुकाबले उनकी पार्टी का प्रदर्शन बेहतर रहेगा।
Author पटना | October 8, 2015 08:41 am
इसके बाद 26 नवंबर 2010 से 17 मई 2014 तक बीजेपी के साथ मिलकर फिर सरकार बनाई, लोकसभा चुनाव के पहले गठबंधन टूट गया था, जिसके बाद जीतनराम मांझी को सीएम बनाया गया।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और महादलित नेता जीतन राम मांझी ने आज कहा कि बिहार चुनाव में राजग के सभी सहयोगी दलों में वे ‘सबसे लोकप्रिय चुनाव प्रचारक’ हैं। उन्होंने दावा किया कि चुनाव में राजग के अन्य घटक दलों के मुकाबले उनकी पार्टी का प्रदर्शन बेहतर रहेगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को उन्हें और सीटें देनी चाहिए थीं क्योंकि हर जगह लोग उन्हें देखना चाहते हैं।

इन चुनावों में राजग और जदयू-कांग्रेस-राजद के महागठबंधन के बीच कांटे की टक्कर होती दिख रही है।

मांझी ने कहा कि अगर उनकी पार्टी को 40 सीटें दी जातीं तो पार्टी 35 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करती। उन्होंने कहा कि यह समय ही बताएगा कि उनकी पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्यूलर) को मात्र 21 सीट देने के निर्णय पर भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को पछतावा होगा या नहीं ।

PHOTOS बिहार चुनाव: बदजुबानी में लालू और शाह सबसे आगे, और भी हैं रेस में… 

मांझी ने दावा किया कि गरीब लोगों के बीच उनकी लोकप्रियता इतनी ज्यादा है कि लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान ने उनसे अनुरोध किया कि वह अलौली में टेलीफोन के माध्यम से एक चुनावी सभा को संबोधित करें। अलौली से पासवान के भाई और लोजपा के प्रदेशाध्यक्ष पशुपति पारस चुनाव लड़ रहे हैं।

पासवान बिहार के अन्य बड़े दलित नेता हैं और अनूसूचित जाति के मतदाताओं में उनकी अच्छी पकड़ है।

अपने जोरदार प्रचार अभियान के दौरान पीटीआई-भाषा को दिए एक साक्षात्कार में मांझी ने कहा कि महागठबंधन टूटे हुए कांच के टुकड़े की तरह बिखर गया है और इन चुनावों में राजग को दो तिहाई बहुमत मिलेगा क्योंकि उसके सामने कोई चुनौती नहीं है ।

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा प्रदर्शन :चुनावों में: भाजपा समेत अन्य सभी दलों से बेहतर रहेगा। इसका कारण यह है कि गरीबों के बीच मेरे समर्थन में एक लहर है क्योंकि मैंने उनके लिए काम शुरू किए थे और उन्हें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रोक दिया । अब वे इसका बदला लेना चाहते हैं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग