ताज़ा खबर
 

झारखंड के सीएम रघुवर दास बोले- जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को माता मानना चाहिए

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शनिवार (20 अगस्त) को कहा कि जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को मां के रूप में मानना चाहिये।
Author कोलकाता | August 20, 2016 13:51 pm
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास। (Image Source – PTI)

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शनिवार (20 अगस्त) को कहा कि जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को मां के रूप में मानना चाहिये। हालांकि दास ने जोर देकर कहा कि गाय बचाने की आड़ में हिंसा नहीं होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि गाय बचाने के नाम पर हाल में हुई हिंसक घटनाओं में पशु तस्कर शामिल हो सकते हैं। दास ने पीटीआई को दिये एक इंटरव्यू में कहा, ‘‘पूरा संघ परिवार गाय बचाने को मुद्दे को लेकर एकमत है। जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को अपनी मां की तरह समझना चाहिये।’

गौहत्या और गायों की गिनती के मुद्दे पर संघ परिवार के साथ मतभेदों के बारे में पूछे जाने पर दास ने कहा, ‘‘संघ परिवार इस मुद्दे पर एकजुट है। गाय हमारी माता है। जो लोग भारत में रहते हैं और भारतीय हैं, जो लोग भारत को अपना देश कहते हैं, उनके लिए गाय उनकी माता की तरह है।’’

दास ने गौरक्षा के नाम पर हाल में हुई घटनाओं से उपजे विवाद के बीच यह प्रतिक्रिया दी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छह अगस्त को गौ-रक्षकों पर अपना रोष व्यक्त करते हुए कहा था कि इस तरह के ‘‘समाज विरोधी तत्व’’ रात को अपराधों में लिप्त रहते हैं और दिन में गौरक्षक बनने का ढोंग करते हैं। मोदी की टिप्पणी पर विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी ने गौरक्षकों को ‘समाज विरोधी’ कहकर उनका अपमान किया है। दास ने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर हमारे प्रधानमंत्री ने जो भी कहा है, वह सही है। आप किसी भी धर्म, जाति के हों, लेकिन गाय हमारी माता है और हमें गायों की रक्षा करनी चाहिये, लेकिन गौरक्षा के नाम पर यदि कोई हिंसा करता है, तो यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं व्यक्तिगत रूप से महसूस करता हूं कि जो लोग पशु तस्करी में लिप्त हैं, वही इस प्रकार के अपराध करते हैं, इस बात की जांच की जानी चाहिए।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग