ताज़ा खबर
 

जेडीयू ने नीतीश कुमार को बताया ‘बब्बर शेर’, कहा- घमंड दिखाने के बजाए तेजस्वी पर लगे आरोपों को साफ करे आरजेडी

कुमार ने आगे कहा कि जेडीयू ने तेजस्वी यादव से कुछ सवालों का जवाब मांगे थे, लेकिन लालू ने शिवानंद तिवारी को तेजस्वी के बदले उन्हें जवाब देने के लिए कहा।
Author नई दिल्ली। | July 20, 2017 16:55 pm
पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव। (FILE PHOTO)

बिहार सरकार में महागठबंधन दलों के बीच उपजी रार खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। जेडीयू और आरजेडी के बीच जुबानी जंग तेज होती जा रही है। मंगलवार को बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने डिप्टी सीएम और आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के साथ अकेले कमरे में बैठक की थी। लेकिन दोनों दलों के बीच की दूरियां कम होती नजर नहीं आ रही है। जेडीयू की ओर से गुरुवार को आरजेडी के उस दावे को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि भ्रष्टाचार के मामले में फंसे तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार के सामने सारी बातें रख दी और अब सब कुछ सुलझ गया है। जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने इंडिया टुडे से कहा, “नीतीश कुमार और तेजस्वी के बीच हुई बैठक में क्या बात हुई इस बारे में किसी को कुछ नहीं पता है। जो इस बात का दावा कर रहे हैं कि चीजें समाप्त कर ली गई वो सरासर गलत कह रहे हैं।”

कुमार ने आगे कहा कि जेडीयू ने तेजस्वी यादव से कुछ सवालों का जवाब मांगे थे, लेकिन लालू ने शिवानंद तिवारी को तेजस्वी के बदले उन्हें जवाब देने के लिए कहा। शिवानंद तेजस्वी की ओर से जवाब क्यों देंगे? जेडीयू नेता ने कहा कि शिवानंद तिवारी राज्यसभा जाने के लिए बेताब हैं और इसी वजह से वह लालू के करीब बने हुए हैं। जेडीयू नेता ने दावा किया कि साल 2015 में महागठबंधन के लिए अपनी सीटें कुर्बान की थी और आरजेडी को इस बात को भूलना नहीं चाहिए। नीरज कुमार ने कहा, “आरजेडी संख्या के आधार पर महागठबंधन में ‘बब्बर शेर’ हो सकती है लेकिन हम नौतिक मूल्यों में हम ‘बब्बर शेर’ है। जेडीयू ने कहा कि आरजेडी को 80 सीटों का ‘घमंड’ दिखाने के बजाए तेजस्वी यादव के ऊपर लगे आरोपों को तथ्यों से साफ करना चाहिए।

बता दें कि आरजेडी सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद से बीजेपी डिप्टी सीएम पद से तेजस्वी के इस्तीफे की मांग कर रही है, लेकिन आरजेडी की ओर से इस्तीफे की बात को सरासर नकार दिया गया है। आरजेडी के एक विधायक की ओर से कहा गया था कि महागठबंधन में सबसे ज्यादा 80 सीटें उनके पास है और वो जो चाहेंगे। वही होगा। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए जेडीयू की ओर से कहा गया था कि उसे सरकार से हटने में 5 मिनट का समय लगेगा। इसके बाद से दोनों दलों के बीच जुबानी जंग जारी है।

विवादित बयानबाज़ी में फंसे सपा नेता

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग