May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

पाक कलाकारों की चुप्पी को लेकर जावेद अख्तर ने उठाए सवाल, हेमा मालिनी का भी आया बयान

जानेमाने गीतकार जावेद अख्तर ने आज पाकिस्तानी कलाकारों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उनके द्वारा उरी हमले की निंदा नहीं करना एक तरह की स्वीकारोक्ति है कि उनका देश इसके लिए जिम्मेदार है।

Author मुंबई | October 5, 2016 09:56 am

जानेमाने गीतकार जावेद अख्तर ने आज पाकिस्तानी कलाकारों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उनके द्वारा उरी हमले की निंदा नहीं करना एक तरह की स्वीकारोक्ति है कि उनका देश इसके लिए जिम्मेदार है। 71 वर्षीय जावेद ने कहा कि हमले पर पाकिस्तानी कलाकारों की चुप्पी के पीछे उन्हें कोई वजह नजर नहीं आती। उन्होंने एक समाचार चैनल से कहा, ‘‘पाकिस्तानी कलाकारों की चुप्पी एक तरह का कबूलनामा है कि पाकिस्तान हमले के लिए जिम्मेदार है। अगर पाकिस्तान कहता है कि वे इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं तो मुझे नहीं लगता कि किसी पाकिस्तानी कलाकार को इस हमले की निंदा नहीं करनी चाहिए। अगर वे कहते हैं कि ‘हम जिम्मेदार नहीं हैं’ तो बहुत अच्छी बात है सामने आओ और इसकी निंदा करो।’ इससे पहले आज दिन में अभिनेत्री-सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि वह कलाकारों का सम्मान करती हैं लेकिन भारतीय जवानों की शहादत को नहीं भुला सकतीं।

उन्होंने दिल्ली में एक समारोह में कहा, ‘‘एक कलाकार के रूप में मैं उनके काम की सराहना करती हूं लेकिन मैं इस बारे में टिप्पणी नहीं करना चाहती कि उन्हें यहां रहना चाहिए या देश छोड़कर चले जाना चाहिए।’ मथुरा से भाजपा सांसद ने कहा, ‘‘कलाकार तो कलाकार होते हैं, फिर चाहे वे पाकिस्तान से हों या भारत से। लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि वे पाकिस्तान से हैं। मैं कहूंगी कि वे अच्छे कलाकार हैं। उन्होंने भारत में अच्छा काम किया है।’

जानेमाने गीतकार गुलजार ने मुंबई में एक कार्यक्रम में इस विषय पर सवालों को अप्रासंगिक बताते हुए कहा, ‘‘अगर शादी में जाएं और बात सरहद की करने लगें तो ठीक लगेगा?’ अभिनेत्री राधिका आप्टे ने पाकिस्तानी कलाकारों पर पाबंदी के सवाल पर कहा कि मुझे लगता है कि पाकिस्तानी कलाकारों को यहां आना चाहिए और फिल्में करनी चाहिए। यही मेरी राय है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 9:50 am

  1. C
    Chandresh Kumar
    Oct 6, 2016 at 12:12 pm
    सच कहा जावेद जी लेकिन काश यही बात हमारे देश के कुछ कलाकारों को भी समझना चाहिए की अगर वो(पाक कलाकार) अपने देश के बारे में (गलत को गलत नही बोल सकते तो) कुछ भी बोलने से कतराते हैं तो हम ऐसे लोगो को क्यों सपोर्ट करते हैं हमारे देश में क्या टैलेंट की कमी है. धिक्कार है ऐसे लोगो पे जो देश से जियादा कला और पैसे को मानते हैं. मानता हु की कला का कोई मजहब और सरहद नही होता. देश सर्वोपरि है. जय हिन्द जय भारत.
    Reply

    सबरंग