ताज़ा खबर
 

मानहानि केस: जनता के पैसों से मुकदमा लड़ना चाहते हैं अरविंद केजरीवाल, जेठमलानी ने भेजा 3.42 करोड़ का बिल

दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट कर आप और केजरीवाल पर जनता के पैसों को केस लड़ने के लिए जेठमलानी को दिए जाने का आरोप लगाया है।
Author नई दिल्ली | April 4, 2017 13:34 pm
दिल्ली सरकार ने बिल का भुगतान करने के लिए उपराज्यपाल को खत लिखा।

वित्त मंत्री अरुण जेटली के ऊपर वित्तीय अनियमितता आरोप लगाने के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मानहानि का मामला झेल रहे हैं। इस मामले में खबरें आ रही है कि वह केस की फीस दिल्ली की जनता द्वारा दिए गए टैक्स से चुकाना चाहते हैं। केस में केजरीवाल की पैरवी देश के जाने-माने वकील राम जेठमलानी कर रहे हैं। जेठमलानी ने केस लड़ने के लिए केजरीवाल को 3.42 करोड़ रुपए का बिल भेजा है। कथित तौर पर केजरीवाल की तरफ से केस लड़ रहे जेठमलानी ने रिटेनरशीप के लिए एक करोड़ रुपए और उसके बाद प्रति सुनवाई 22 लाख रुपए फीस रखी है। इस तरह उनकी कुल फीस 3.42 करोड़ रुपए हो गई। दिल्ली सरकार ने बिल का भुगतान करने के लिए उपराज्यपाल को खत लिखा है।

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस केस जुड़े बिलों पर दस्तखत कर उसे पास करने के लिए दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेज दिया है। एलजी बैजल इस संबंध में विशेषज्ञों की राय ले रहे हैं। टीवी चैनल ‘टाइम्स नाउ’ के मुताबिक प्रशासनिक विभाग को लिखे नोट में मनीष सिसोदिया ने जेठमलानी की ओर से भेजे गए बिल का भुगतान करने को कहा था। सिसोदिया ने फाइल पर नोटिंग की, जिसमें लिखा- केजरीवाल ने मीडिया में सरकार की आधिकारिक स्थिति को स्पष्ट करने के लिए बयान दिया था और इसके बाद उन पर मानहानि का मुकादमा दर्ज किया था। फाइल को दिल्ली सरकार के कानून मंत्रालय की लीगल ब्रांच को भेजा गया था। कानून मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली के एलजी और वित्त मंत्रालय का क्लीयरेंस जरुरी है। जिसके जवाब में सिसोदिया ने लिखा फाइल को अनुमति के लिए उप राज्यपाल के पास भेजे जाने की जरुरत नहीं है। इसके बाद दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने उपराज्यपाल को चिट्ठी लिखकर केजरीवाल के बिल का भगुतान करने के लिए कहा था।

वहीं, दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट कर आप और केजरीवाल पर जनता के पैसों को केस लड़ने के लिए जेठमलानी को दिए जाने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि केजरीवाल इस मामले पर चुप्पी क्यों साधे हुए हैं। मैं उन्हें इस मामले में बहस की चुनौती देता हूं।

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी के नेताओं जेटली पर दिल्ली क्रिकेट अकादमी (डीडीसीए) के 13 साल तक अध्यक्ष रहने के दौरान वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाया था। जिसके बाद जेटली ने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल समेत आप नेता राघव चड्ढा, कुमार विश्वास, आशुतोष, संजय सिंह और दीपक वाजपेयी पर मानहानि का केस दर्ज कराया था।

दिल्ली: उप-राज्यपाल अनिल बैजल का आदेश- "आम आदमी पार्टी से विज्ञापनों के लिए 97 करोड़ रुपये वसूले जाएं"

मुंबई: फेसबुक पर लाइव होने के बाद, 24 साल के छात्र ने होटल के 19वें फ्लोर से कूदकर आत्महत्या की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Rajendra Vora
    Apr 4, 2017 at 11:15 am
    Jetli ji ne mukadma kiya he to Arvind Kejriwal ke uparna ki Delhi Sarkar ke khilaf. Ha agar Delhi sarkar aur jetly ke bich mukadma hota to bhugtan karna jayaz tha lekin yahan par to personal capacity me mukadma hua he. Abhiyukt Arvind Kejriwal he ya Mukhya Mantri Arvind kejriwal s hi spasta ho jayegi.
    Reply
सबरंग