ताज़ा खबर
 

मायावती के भाई पर बेनामी संपत्ति का आरोप, इनकम टैक्‍स विभाग ने भेजा नोटिस

बेनामी संपत्ति की शिकायत के बाद मायावती के भाई आनंद कुमार को नोटिस दिया गया है। उनकी संपत्ति की जांच की जाएगी।
लखनऊ के बहुजन समाज पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती। (PTI Photo by Nand Kumar/25 Sep, 2016)

बसपा सुप्रीमो मायावती के भाई को आयकर विभाग ने बेनामी संपत्ति के मामले में नोटिस भेजा है। जानकारी के अनुसार बेनामी संपत्ति की शिकायत के बाद मायावती के भाई आनंद कुमार को नोटिस दिया गया है। उनकी संपत्ति की जांच की जाएगी। टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार उनके अलावा नोएडा के कई बिल्‍डर्स को भी नोटिस भेजे गए हैं। आनंद कुमार पर बेनामी संपत्ति के लिए सांठगांठ करने का आरोप लगाया। उत्‍तर प्रदेश विधानसभा के चुनावों से पहले मायावती के लिए यह झटका है। मायावती के भाई आनंद कुमार ने रियल  इस्‍टेट में पैसा लगा रखा है। उनके खिलाफ पहले भी अवैध ट्रांजेक्‍शन के आरोप लग चुके हैं। मायावती की सरकार के समय तो वे 50  कंपनियों के मालिक थे। इस दौरान उन्‍होंने 760 करोड़ रुपये का कैश लेनदेन किया था।

गौरतलब है कि मायावती पर भी आय से अधिक संपत्ति का मामला चल रहा है। मायावती नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ हैं। वे लगातार इस फैसले पर केंद्र सरकार के खिलाफ हमले बोल रही हैं। सोमवार (26 दिसंबर) को भी उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी का जल्‍दबाजी में लिया गया उनका निर्णय भाजपा के लिए गले की हड्डी बन गया है। इससे वे काफी खुश हैं क्‍यों कि नोटबंदी का बेवकूफी वाला फैसला जल्‍दबाजी में लिया है। इसका उनको नुकसान होगा।

इससे पहले मायावती ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तानाशाही वाला रवैया अपना रहे हैं और अपनी विफलताओं पर परदा डालने के लिए आम जनता को नोटबंदी के फैसले से कष्ट दे रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने राजनीतिक स्वार्थ को साधने की कोशिश करते हैं और अपनी विफलताओं पर परदा डालने के लिए 90 प्रतिशत गरीब, मेहनतकश और मध्यम वर्गीय जनता को कष्ट देने के लिए तानाशाहपूर्ण रवैया अपनाते हैं तो बसपा आम जनता के साथ खड़े होकर उनकी तकलीफों को कम करने के लिए केन्द्र के ऐसे सभी फैसलों का संसद के भीतर और बाहर सख्त विरोध कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.