ताज़ा खबर
 

‘एंटी कृष्ण स्क्वाड’ ट्वीट को लेकर प्रशांत भूषण के घर पर हमला, नेमप्लेट पर फेंकी इंक, पुलिस तैनात

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 7-8 लोग उनके घर के बाहर आए और प्रशांत भूषण के भगवान कृष्ण के ऊपर एंटी रोमियो स्क्वॉड के संदर्भ में दिए बयान को लेकर माफी की मांग की।
प्रशांत भूषण के घर के नेम प्लेट पर फेंकी गई स्याही। (pic source- social media)

मशहूर वकील और स्वराज इंडिया के नेता प्रशांत भूषण के भगवान कृष्ण पर की गई टिप्पणी से नाराज कुछ लोगों ने उनके घर की नेम प्लेट पर इंक फेंक दी है। प्रशांत भूषण के घर पर नेम प्लेट उनके पिता शांति भूषण की है। शांति भूषण B-16 नाम की इस नेम प्लेट पर इंक साफ दिखाई दे रही है। शांति भूषण नोएडा सेक्टर 14 में रहते हैं जहां किसी अनजान लोगों ने सोमवार दोपहर 12 बजे के करीब ये इंक फेंकी है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 7-8 लोग उनके घर के बाहर आए और प्रशांत भूषण के भगवान कृष्ण के ऊपर एंटी रोमियो स्क्वॉड के संदर्भ में दिए बयान को लेकर माफी की मांग की। इस घटना के समय प्रशांत भूषण अपने घर पर नहीं थे। प्रशांत भूषण के नौकरों ने तुरंत पुलिस को फोन किया और जल्द ही पुलिस की एक गाड़ी मौके पर पहुंच गई। इस घटना के करीब घंटेभर बाद प्रशांत अपने घर लौट आए अभी तक इस मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया है।

क्या है पूरा मामला

शनिवार को  स्वराज इंडिया के नेता प्रशांत भूषण ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके एंटी रोमियो स्क्वाड पर सवाल उठाते हुए भगवान कृष्ण को भी खींच लिया था। प्रशांत भूषण ने ट्वीट करते हुए लिखा कि रोमियो ने केवल एक से प्यार किया था जबकि भगवान कृष्ण तो लड़कियों को छेड़ने के लिए मशहूर थे। प्रशांत भूषण ने आगे लिखा कि क्या आदित्यनाथ के अंदर हिम्मत है कि वो एंटी रोमियो स्क्वाड को एंटी कृष्ण स्क्वाड कहेंगे?

इसके बाद उनका चारों तरफ विरोध होने लगा। सोशल मीडिया पर उनकी जमकर आलोचना की गई। हालांकि बाद में प्रशांत थोड़ा मामले को संभालते दिखे लेकिन अभी भी उनके बयान को एक वर्ग में काफी आक्रोश है। इससे पहले भी कश्मीर पर अपने बयान को लेकर प्रशांत सुर्खियों मे ं रह चुके हैं तब उनके ऊपर हमला तक हो गया था।

NIRF Ranking 2017: टॉप 10 यूनिवर्सिटी में शामिल जेएनयू, मिरांडा हाउस भारत का टॉप कॉलेज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.