ताज़ा खबर
 

रेलवे की पैंट्री कार में घोटाले की यात्री ने खोली पोल, 50 का खाना 90 में बेचकर कर्मचारी भर रहे जेबें

प्रतप्‍त दास नाम के एक शख्‍स ने रिटायर्ड आईएएस अधिकारी शिवेंद्र कुमार सिन्‍हा के हवाले से विशाखापट्टनम से हावड़ा तक के सफर के दौरान सामने आए फर्जीवाड़े का जिक्र किया है।
फेसबुक से कर सकेंगे खाने का ऑर्डर। (Representative Image)

एक यात्री ने फेसबुक पोस्‍ट के जरिए भारतीय रेलवे की पैंट्री कारों में घोटाले का खुलासा किया है। प्रतप्‍त दास नाम के एक शख्‍स ने रिटायर्ड आईएएस अधिकारी शिवेंद्र कुमार सिन्‍हा के हवाले से विशाखापट्टनम से हावड़ा तक के सफर के दौरान सामने आए फर्जीवाड़े का जिक्र किया है। उनकी पोस्‍ट में लिखा है कि पैंट्री कार के लोगों ने 50 रुपये के खाने के 90 रुपये वसूले। वहीं नॉन वेज खाने के 55 रुपये के बजाय 100 रुपये बताए गए।

उन्‍होंने लिखा, ”पिछले सप्‍ताह मैंने यशवंतपुर-हावड़ा एक्‍सप्रेस से विशाखापट्टनम से हावड़ा तक का सफर किया। पैंट्री कार से वेज खाने का ऑर्डर दिया और वेटर के अनुसार इसकी कीमत 90 रुपये थी। मुझे हमेशा लगता था कि ये लोग खाने के ज्‍यादा पैसे चार्ज करते थे लेकिन कभी इसे गंभीरता से नहीं लिया। लेकिन इस बार मैंने पता करने का फैसला किया। रेट कार्ड और मीनू के लिए गूगल किया तो IRCTC Help: IRCTC Latest Food Menu Rates यह साइट मिली।”

उन्‍होंने लिखा कि जब रेटकार्ड देखा तो उनके होश उड़ गए। इसके बाद उन्‍होंने वेटर को 50 रुपये ही दिए तो उसने लेने से मना कर दिया और 90 रुपये मांगे। इस पर शिवेंद्र कुमार ने रेट कार्ड दिखाया तो वेटर ने 50 रुपये ले लिए और किसी से इस बारे में बताने से मना किया।

शिवेंद्र कुमार ने अपनी पोस्‍ट में आगे लिखा, ”मैं काफी गुस्‍से में था और पहले से लेकर 13वें कोच तक गया। रास्‍ते में सबको बताया कि रेट को लेकर गड़बड़ी कर रहे हैं। पैंट्री कार में इंचार्ज से मुलाकात की और इस बारे में पूछा। उसने भी वही कहानी सुनाई और कहा कि रेट कार्ड अभी है नहीं लेकिन जल्‍द ही मिल जाएगा। उसके कंप्‍लेंट रजिस्‍टर में शिकायत दर्ज की। कंप्‍लेंट रजिस्‍टर भी उसने काफी ना-नुकुर के बाद दिया। फिर उसने कहा कि इसे कोई नहीं देखेगा, यह सब कचरे में जाएगा। जबकि इससे पहले शिकायत ना लिखने को कह रहा था।”

उन्‍होंने बताया कि शिकायत दर्ज करने के बाद इंचार्ज ने रजिस्‍टर में उल्‍टे उन पर ही हर बार शिकायत करने की टिप्‍पणी लिख दी। उन्‍होंने बताया कि इंजार्च ने लिखा कि यात्री से 50 रुपये ही लिए गए थे।

उन्‍होंने इस घोटाले का आंकलन करते हुए कहा कि हर राजे 2.50 करोड़ भारतीय रेलवे में सफर करते हैं। यदि केवल 0.5 प्रतिशत भी पैंट्री कार से खाना लेते हैं तो हर प्‍लेट पर 30 रुपये ज्‍यादा देने से घोटाला करने वाले लोग 3.75 करोड़ रुपये कमाते हैं। प्रतप्‍त दास ने यह पोस्‍ट नौ फरवरी को डाली थी। इसे अब तक 57765 बार शेयर किया जा चुका है। इस मामले का एक वीडियो भी डाला गया है।

indian railway, railway pantry car, pantry car food price, railway pantry car scam, IRCTC food price, IRCTC food rate card, IRCTC menu, train pantry rate card, railway news आईआरसीटीसी का फूड और रेट कार्ड।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग