ताज़ा खबर
 

पाक उच्चायोग के 6 अधिकारियों के अपने देश लौटने के बाद अब भारत वापस बुलाएगा अपने 8 राजनयिक

पाकिस्तान उच्चायोग के छह अधिकारी बुधवार को वापस अपने देश लौट गए।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप। (Photo- ANI/FILE)

भारत ने बुधवार को कहा कि वह अपने आठ राजनयिकों को पाकिस्तान से वापस बुलाएगा। सरकार ने यह फैसला स्थानीय मीडिया पहचान जाहिर होने और पड़ोसी देश से संबंधों में कड़वाहट आने के बाद लिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने कहा, ‘उन्होंने(पाकिस्तान) छह राजनयिकों के नाम सार्वजनिक किए हैं और उनके छह लोग आज गए हैं। हम अपने आठों राजनयिकों को वापस बुलाएंगे।’ पहले खबरें आई थीं कि जासूसी के आरोप में पाकिस्तान भारत के दो राजनियकों को वापस भारत भेज सकता है। बता दें, पाकिस्तान उच्चायोग एक अधिकारी के जासूसी के आरोप में पकड़े जाने के बाद बुधवार को पाकिस्तानी उच्चायोग के छह अधिकारी पाकिस्तान वापस लौट गए।

बता दें, पाकिस्तान स्थानीय मीडिया की एक खबर के अनुसार पाकिस्तान भारतीय उच्चायोग के कम से कम दो भारतीय अधिकारियों को विध्वंसक गतिविधियों में कथित रूप से शामिल होने के लिए देश छोड़कर जाने को कह सकता है। बुधवार को आई इस खबर में कहा गया कि दोनों अधिकारियों की पहचान हो गई है और उनकी तस्वीरें विभिन्न टीवी समाचार चैनलों पर दिखाई जा रही है। जियो टीवी की खबर के अनुसार वाणिज्य मामलों के अधिकारी राजेश अग्निहोत्री और प्रेस मामलों के अधिकारी बलबीर सिंह को निष्कासित किया जा सकता है।

वीडियो में देखें- महमूद अख्तर ने किया खुलासा- “पाक उच्चायोग के 16 और कर्मचारी जासूसी रैकेट में शामिल”

चैनल ने सूत्रों के हवाले से दावा किया कि अग्निहोत्री सीधे रॉ से जुड़े हुए हैं, जबकि सिंह इंटेलीजेंस ब्यूरो के लिए काम कर रहे हैं और उन्होंने पाकिस्तान में अपने पदों का कथित इस्तेमाल अपनी मूल पहचान छिपाने के लिए किया। इसमें दावा किया गया कि सिंह पाकिस्तान में आतंकियों के एक नेटवर्क का भी संचालन कर रहे हैं और भारतीय उच्चायोग के निष्कासित अधिकारी सुरगीत सिंह भी इस नेटवर्क का हिस्सा थे।

इस घटनाक्रम से पहले ऐसी खबरें आई थीं कि पाकिस्तान भारत स्थित अपने उच्चायोग के कम से कम चार अधिकारियों को वापस बुला सकता है जिनका नाम पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी महमूद अख्तर के रिकॉर्ड किए गए बयान में आया था। अख्तर को कुछ समय के लिए हिरासत में रखा गया था और फिर भारत से निष्कासित कर दिया गया। चारों अधिकारियों में वाणिज्य मामलों के अधिकारी सैयद फर्रूख हबीब, प्रथम सचिव खादिम हुसैन, मुदस्सिर चीमा और शाहिद इकबाल शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग