ताज़ा खबर
 

भारत-पाकिस्तान सीमा पर तनाव कम करने के लिए दोनों देशों के DGMO ने की बातचीत

भारतीय डीजीएमओ ने पाकिस्तान के आम नागरिकों के मरने पर दुख प्रकट किया।
डायरेक्‍टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन(डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जनरल रनबीर सिंह

भारत-पाकिस्तान सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच दोनों देशों के डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस (DGMO) ने बुधवार को हॉटलाइन पर बातचीत की। दो दिन पहले पाकिस्तान सेना द्वारा तीन भारतीय सैनिकों की हत्या कर दी गई थी। शहीद हुए तीन सैनिकों में से एक सैनिक के शव को क्षत-विक्षत भी किया गया था। इसकी हमले की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के तीन सैनिक मारे गए । इसी हमले को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान के डीजीएमओ ने भारतीय डीजीएमओ से बात करने का अनुरोध किया। पाकिस्तान के अनुरोध को स्वीकार करते हुए भारत के डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बुधवार शाम 6 बजकर 30 मिनट पर पाकिस्तान के डीजीएमओ से बातचीत की।

पाकिस्तानी सेना ने बुधवार को कहा नियंत्रण रेखा पर भारतीय सैनिकों के साथ गोलीबारी में कथित रूप से उसके तीन सैनिकों सहित सात लोग मारे गए जिसके साथ पिछले हफ्ते से इस तरह की घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या 14 हो गई। पाकिस्तानी सेना ने कहा, ‘तीन पाकिस्तानी सैनिकों ने बिना किसी उकसावे के भारत द्वारा की गई गोलीबारी का जवाब देते हुए नियंत्रण रेखा पर बहादुरी से अपने जान की कुर्बानी दी।’ मारे गए सैनिकों की पहचान कैप्टन तैमूर अली खान, हवलदार मुश्ताक हुसैन और लांस नायक गुलाम हुसैन के रूप में हुई है। बयान में यह भी दावा किया गया कि जवाबी गोलीबारी में सात भारतीय सैनिक मारे गए। इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने एक बयान में कहा कि नीलम घाटी में धुदनियाल के पास गोलाबारी में चार आम लोग मारे गए। पाकिस्तान ने डीजीएमओ-स्तरीय वार्ता के लिए भी अनुरोध किया है। भारतीय डीजीएमओ ने पाकिस्तान के आम नागरिकों के मरने पर दुख प्रकट किया।

हालांकि मीडिया की खबरों में कहा गया कि भारतीय सैनिकों की कथित गोलीबारी में बुधवार को करीब दस आम नागरिक मारे गए। दूसरी तरफ पाकिस्तान ने मंगलवार को इस आरोप को ‘गलत’ और ‘बेबुनियाद’ करार देकर खारिज कर दिया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने नियंत्रण रेखा के पार किए गए एक हमले में एक भारतीय सैनिक के शव को क्षत-विक्षत कर दिया। विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कई ट्वीट कर कहा कि भारतीय सैनिक के शव को क्षत-विक्षत करने की खबरों का मकसद पाकिस्तान की छवि धूमिल करना है। जकारिया ने कहा था, ‘पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर एक भारतीय सैनिक के शव को कथित तौर पर क्षत-विक्षत करने के बाबत भारतीय मीडिया में आई गलत और बेबुनियाद खबरों को सिरे से खारिज करता है । ये मनगढ़ंत खबरें हैं और पाकिस्तान की छवि धूमिल करने की कोशिश है।’ प्रवक्ता ने कहा कि एक पेशेवर सुरक्षा बल के तौर पर पाकिस्तानी थलसेना किसी ‘अनैतिक और गैर-पेशेवराना हरकत’ में शामिल नहीं है। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तानी थलसेना ने कभी ऐसी किसी कार्रवाई का समर्थन नहीं किया।

जम्मू-कश्मीर: माछिल सेक्टर में तीन जवान शहीद, एक के शव के साथ हुई बर्बरता; सेना बोली- बदला लेंगे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Ajay
    Nov 24, 2016 at 6:45 am
    The purpose of mutilating our soldiers dead body was to create tension between India and stan.
    Reply
  2. A
    Anjan
    Nov 24, 2016 at 6:40 am
    But present PM is Mr Modi, whose name is taken from Ms SG, Mr RG, Ms MB,Mr AK [on day to day basis] instead of his political party BJP,. Our present PM can take best instant action on any issue.
    Reply
  3. K
    Kajal
    Nov 24, 2016 at 6:42 am
    Beheading may be avenged only by beheading.
    Reply
  4. S
    Samar
    Nov 24, 2016 at 6:43 am
    Thrash them into submission. This is the only way. The beggar country should run out of ammunition and cry for mercy. Record the call and put it on the All India Radio station.
    Reply
सबरंग