December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

भारत ने चीन को फिर समझाया, क्यों चाहिए एनएसजी की सदस्यता, बातचीत रही सकारात्मक

सियोल में एनएसजी देशों की बैठक में चीन ने भारत को सदस्यता दिए जाने पर कड़ा एतराज जताया था जबकि अमेरिका ने भारत को इसकी सदस्यता दिए जाने की वकालत की थी।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करते पीएम मोदी (फाइल फोटो)

भारत ने चीन के साथ परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) की सदस्यता को लेकर अपनी बातचीत जारी रखी। सोमवार को बीजिंग में भारत की एनएसजी सदस्यता पर दोनों देशों के बीच दूसरे दौर की सकारात्मक बातचीत हुई है। पहले दौर की बातचीत 13 सितंबर को दिल्ली में हुई थी और तब तय किया गया था कि दूसरे दौर की बातचीत बीजिंग में होगी। इसी सिलसिले में विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव अमनदीप सिंह गिल (निरस्त्रीकरण और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा) ने बीजिंग में चीन के विदेश मंत्रालय के महानिदेशक वांग कून के साथ एनएसजी में भारत की सदस्यता को लेकर बातचीत की है।

वांग एनएसजी को लेकर हो रही बातचीत में चीनी प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि वार्ता दोनों देशों के नेतृत्व के निर्देशानुसार ठोस एवं रचनात्मक दिशा में चल रही है। सियोल में जून में चीन ने 48 देशों के इस समूह में भारत की सदस्यता का यह कहकर विरोध किया था कि भारत ने अभी तक परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर हस्ताक्षर नहीं किया है। इस मुद्दे पर गिल और वांग ने 13 सितंबर को नई दिल्ली में बैठक की शुरुआत की थी।

वीडियो देखिए: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की जेल से फरार सभी आतंकी मुठभेड़ में ढेर

सूत्रों ने बताया कि बातचीत के दौरान भारत चीन को यह समझाने की कोशिश करता रहा कि परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में उसकी दावेदारी कैसू मजबूत बनती है। बातचीत के दौरान भारतीय अधिकारियों ने कहा कि परमाणु अप्रसार संधि पर हस्ताक्षर दूसरे दौर का काम है। गौरतलब है कि सियोल में एनएसजी देशों की बैठक में चीन ने भारत को सदस्यता दिए जाने पर कड़ा एतराज जताया था जबकि अमेरिका ने भारत को इसकी सदस्यता दिए जाने की वकालत की थी।

Read Also- अगले सप्ताह मिलेंगे भारत-चीन के एनएसए, एनएसजी-मसूद अजहर पर हो सकती है चर्चा

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 31, 2016 4:23 pm

सबरंग