December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

भारत ने ब्रिटेन से कहा- विजय माल्‍या जैसे भगौड़े लोगों को हमें सौंपिए

भारत ने ब्रिटेन से विजय माल्या और अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर सौदे के कथित बिचौलिए क्रिस्टीन मिशेल सहित करीब 60 वांछित लोगों को प्रत्यर्पित करने को कहा।

Author नई दिल्‍ली | November 7, 2016 20:10 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे दिल्‍ली में संयुक्‍त बयान के बाद। (Photo: PTI)

भारत ने ब्रिटेन से शराब कारोबारी विजय माल्या और अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर सौदे के कथित बिचौलिए क्रिस्टीन मिशेल सहित करीब 60 वांछित लोगों को प्रत्यर्पित करने को कहा। भारत ने कहा कि इन लोगों को हमें सौंपिए ताकि उन्हें यहां न्याय की जद में लाया जा सके। भारत और ब्रिटेन केंद्रीय गृह मंत्री स्तर पर सालाना रणनीतिक बातचीत करने पर भी सहमत हुए ताकि आतंकवाद, संगठित अपराध, वीजा और आव्रजन जैसे मुद्दों से साझा रूप से निपटा जा सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी ब्रिटिश समकक्ष टेरीजा मे के बीच हुई द्विपक्षीय बातचीत के दौरान करीब 60 वांछित लोगों की सूची ब्रिटेन को सौंपी गई।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ब्रिटेन ने भी भारत को 17 ऐसे लोगों की सूची सौंपी जिनकी हिरासत उसे परस्पर कानूनी सहायता संधि के तहत चाहिए या जिनके खिलाफ लेटर रोटेगरी जारी हो चुका है। उद्योगपति विजय माल्या बैंकों का कर्ज ना चुका पाने के आरोपी हैं। वहीं क्रिस्टीन मिशेल 3600 करोड़ रूपए के अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर सौदे में कथित बिचौलिया हैं। बयान में कहा गया है कि दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि भगोड़ों और अपराधियों को कानून से बचने की अनुमति नहीं दी जा सकती। उन्होंने दोनों पक्षों के लंबित प्रत्यर्पण अनुरोधों को आगे बढ़ाने पर भी जोर दिया।

इस क्रम में उन्होंने प्रत्यर्पण मामलों से जुड़े दोनों पक्षों के अधिकारियों को जल्दी मिलने का निर्देश दिया ताकि दोनों देशों की कानूनी प्रक्रिया और जरूरतों की बेहतर समझ विकसित हो सके, साथ ही वे विलंब के कारणों की पहचान कर सकेंगे और लंबित अनुरोधों में तेजी लाएंगे। सूत्रों ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ सहयोग पर विचार करने, द्विपक्षीय वीजा और आव्रजन मुद्दों के साथ ही संगठित अपराधों से निपटने के लिए केंद्रीय गृह सचिव और ब्रिटेन में उनके समकक्ष के बीच रणनीतिक बातचीत अगले साल शुरू होगी। यह पहला मौका होगा जब भारत और ब्रिटेन सुरक्षा मुद्दों से निपटने के लिए इस प्रकार का तंत्र स्थापित करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 8:10 pm

सबरंग