December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

अगर आपके पास एक किलो से ज्‍यादा सोना है, तब भी आप जब्‍ती या टैक्‍स से बच सकते हैं, पर शर्त ये है कि…

सीबीडीटी ने कहा है कि आयकर अधिकारी छापे के दौरान तय सीमा से अधिक मात्रा में सोना पाए जाने पर भी उसे जब्त नहीं करेंगे।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

अगर आपके पास नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा गुरुवार (1 दिसंबर) को घोषित की गई सीमा से ज्यादा सोना या सोने के आभूषण हैं तो आपको परेशान होने की कत्तई जरूरत नहीं है। घोषणा के बाद से इसे लेकर फैली अफवाहों का खंडन करते हुए सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेकट् टैक्सेज (सीबीडीटी) ने साफ किया है कि आयकर अधिकारी छापे के दौरान तय सीमा से अधिक मात्रा में सोना पाए जाने पर भी उसे जब्त नहीं करेंगे। अगर आपके पास पैतृक आभूषण हैं या आपने अपनी मेहनत की कमाई से तय सीमा से अधिक सोना खरीद रखा है तो आपको डरने की कत्तई जरूरत नहीं है। आइए हम आपको बताते हैं कि तय सीमा से अधिक सोना होने पर भी आप किस तरह जब्ती या जुर्माने से बच सकते हैं।

सरकार ने साफ कहा है कि अगर आपको पैतृक संपत्ति के रूप में सोने के आभूषण मिले हैं और वो तय सीमा से अधिक हैं तो आपको इस पर टैक्स या जुर्माना नहीं देना होगा। आप वसीयत या किसा अन्य दस्तावेज से ये प्रमाणित कर सकते हैं कि आपका पास मौजूद सोना पुश्तैनी है तो आपको आयकर विभाग से डरने की कोई जरूरत नहीं।

अगर आपने अपने पास मौजूद तय सीमा से अधिक सोने पर संपत्ति कर दिया है तो भी आप जब्ती या जुर्माने से बच सकते हैं। सरकार ने वित्त वर्ष 2015-16 में 30 लाख सालाना से अधिक आय पर दिया जाने वाला संपत्ति कर खत्म कर दिया था। ऐसी स्थिति में अगर आपने 2014-15 तक अपने पास मौजूद सोने पर संपत्ति कर दिया होगा तो आपको अब आयकर विभाग को कोई सफाई नहीं देनी होगी।

अगर आपकी सालाना आय 50 लाख रुपये से अधिक है और आपने अपने आयकर रिटर्न में 31 मार्च 2016 तक आपके पास मौजूद सोने की मात्रा उसमें बताई है तो आपको डरने की जरूरत नहीें है। अगर आपने आयकर रिटर्न में बताई गई अपनी कमाई की बचत से सोना खरीदा है तो आपको इस पर टैक्स नहीं देना होगा। अगर आपने कृषि आय से सोना खरीदा है तो भी सरकार आपसे कोई टैक्स नहीं लेगी।

वित्‍त मंत्रालय की ओर से की गई घोषणा के मुताबिक, प्रत्‍येक शादीशुदा महिला 500 ग्राम, अविवाहित महिलाएं 250 ग्राम और पुरुष 100 ग्राम तक सोना अपने पास रख सकते हैं। अगर आयकर विभाग को अगर किसी के पास इससे अधिक सोना मिलता है तो उसे इसका स्रोत बताना होगा। नोटबंदी के बाद सरकार ने आयकर संशोधन अधिनियम लोक सभा में पारित किया है। प्रस्तावित संशोदन के तहत 30 दिसंबर तक बंद किए गए पुराने नोटों में नकदी बारे में स्वेच्छा से घोषणा पर 50 प्रतिशत कर लगाने का प्रस्ताव किया गया है। कर अधिकारियों द्वारा पता लगाने पर अघोषित संपत्ति पर उच्चतम 85 प्रतिशत तक कर लगाया जा सकता है।

केंद्र सरकार की ओर से 8 नवंबर को 500, 1000 रुपए के नोट बंद करने का ऐलान किया गया था। इसके बाद अगले कुछ दिनों तक सोने की अवैध खरीद किए जाने की शिकायत पर दिल्‍ली के कई सर्राफा प्रतिष्‍ठानों पर छापेमारी की गई थी। विशेषज्ञों का अनुमान है कि देश में सबसे ज्‍यादा काला धन रियल एस्‍टेट और सर्राफा में ही है। छापेमारी के विरोध में सर्राफा कारोबारी हड़ताल पर चले गए थे।

वीडियो: पुश्तैनी गहनों पर नहीं लगेगा कोई टैक्स; जानिए कौन रख सकेगा कितना सोना

वीडियोः नोटबंदी के बाद हैदराबाद से पकड़े गए 95 लाख, बेंगलुरु से 4.7 करोड़; ज़्यादातर नोट 2000 के

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 2, 2016 1:38 pm

सबरंग