June 23, 2017

ताज़ा खबर
 

IC 814 हाईजैक केस: सुप्रीम कोर्ट ने दी अपराधी अब्दुल मोमिन को राहत, हाई कोर्ट से मिली थी आजीवन कारावास की सजा

जस्टिस पी.सी घोष और जस्टिस आर.एफ नरिमन की बेंच ने अपील विचारार्थ स्वीकार करते हुये कहा, ‘‘हम इस मामले की सुनवाई करेंगे।’’

Author April 21, 2017 21:17 pm
दिसंबर 1999 में एयर इंडिया की फ्लाइट IC-814 को हाईजैक किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने 1999 के सनसनीखेज कांधार विमान अपहरण कांड में साजिशकर्ता अब्दुल लतीफ अदम मोमिन को उम्र कैद की सजा सुनाने के पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर दो अपीलों पर सुनवाई पर शुक्रवार (21 अप्रैल) को सहमत हो गया। हाई कोर्ट ने इस मामले में एक सह साजिशकर्ता को उम्र कैद की सजा सुनाई थी जबकि दूसरे आरोपी को बरी कर दिया था।

मोमिन ने उम्र कैद की सजा के खिलाफ अपील की है जबकि पंजाब सरकार ने सीबीआई के माध्यम से दूसरे आरोपी भूपाल मन दमाई उर्फ यूसुफ नेपाली को बरी करने के हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती दी है। जस्टिस पी.सी घोष और जस्टिस आर.एफ नरिमन की बेंच ने अपील विचारार्थ स्वीकार करते हुये कहा, ‘‘हम इस मामले की सुनवाई करेंगे।’’

मोमिन ने अपनी अपील में दलील दी है कि अभियोजना ऐसा कोई भी साक्ष्य पेश करने में असफल रहा है जिससे यह पता चलता हो कि उसने विमान अपहरण के लिये उकसाया था। उसका तर्क है कि वह 17 साल से हिरासत मे है और 30 दिसंबर, 1999 को गिरफ्तारी के बाद से भी पेरोल पर नहीं रहा। उसका यह भी कहना है कि उसके इकबालिया बयानों पर अदालत ने विचार नहीं किया।

काठमांडो से नई दिल्ली की उड़ान पर 179 यात्रियों के साथ इंडियन एयरलाइंस की उडान आईसी-814 का 24 दिसंबर, 1999 को अपहरण करके पांच अपहरणकर्ता उसे अफगानिस्तान में कांधार ले गए थे। ये अपहरणकर्ता अभी भी फरार हैं। अपहर्ताओं ने रूपिन कत्याल नाम के यात्री की हत्या कर दी थी और अंत में बातचीत के बाद बंधक यात्रियों के बदले तीन आतंकवादी मसूद अजहर अल्वी, सैयद उमर शेख और मुश्ताक अहमद जरगर को 31 दिसंबर, 1999 को भारतीय जेलों से रिहा किया गया था।

शीर्ष अदालत ने 2014 के हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ मोमिन और पंजाब सरकार की अपील पर नोटिस जारी किये थे। इस साल 25 फरवरी को हाई कोर्ट ने मोमिन को मौत की सजा सुनाने की सीबीआई की मांग की याचिका खारिज कर दी थी। कोर्ट ने मोमिन की उम्र कैद की सजा बरकरार रखते हुए यूसुफ नेपाली और दिलीप कुमार भूजेल को हत्या और विमान अपहरण की साजिश के आरोपों से दो दोषियों को बरी कर दिया था। हालांकि, हाई कोर्ट ने दोनों को शस्त्र कानून के तहत दोषी ठहराया था।

देखिए वीडियो - अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने स्वामी से कहा- "हमारे पास आपको सुनने के लिए समय नहीं"; जल्द सुनवाई से किया इंकार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 21, 2017 1:19 pm

  1. No Comments.
सबरंग