December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

NDTV इंडिया पर बैन की आलोचना करने वालों पर बरसे वेंकैया नायडू, बोले- ये लोग राजनीति करते हैं

एनडीटीवी इंडिया पर लगाए गए बैन की आपातकाल से तुलना किए जाने की निंदा करते वेंकैया नायडू ने कहा कि कार्रवाई ‘‘देश की सुरक्षा ’’के हित में की गयी।

Author चेन्नई | November 5, 2016 15:51 pm
सूचना एंव प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू (PTI Photo)

एनडीटीवी इंडिया पर लगाए गए एक दिन के प्रतिबंध की आपातकाल से तुलना किए जाने की निंदा करते हुए सूचना और प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि हिंदी न्यूज चैनल के खिलाफ कार्रवाई ‘‘देश की सुरक्षा ’’के हित में की गयी । नायडू ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राजग सरकार मीडिया की स्वतंत्रता का बेहद सम्मान करती है और इस प्रकार के मुद्दों से केवल देश की सुरक्षा और संरक्षा प्रभावित होगी। उन्होंने ‘‘आपातकाल के काले दिनों के बारे में बात करने के लिए ’’ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी आड़े हाथ लिया। सूचना और प्रसारण मंत्री ने कहा, ‘‘ मैं हैरान रह गया हूं। कुछ लोग आपातकाल जैसी स्थिति के बारे में बात कर रहे हैं । कार्रवाई देश की सुरक्षा और संरक्षा के हित में की गयी।’’  उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे नहीं पता कि वे कैसे कह रहे हैं कि यह पहली बार है ।

वीडियो: NDTV इंडिया बैन: केजरीवाल ने जताई उम्मीद- NDTV के समर्थन में सारे मीडिया चैनल बंद रखेंगे प्रसारण

 

मैंने एक समाचारपत्र में आज पढ़ा कि यह पहली बार है कि सरकार ने एक टेलीविजन चैनल पर प्रतिबंध जारी किया है। क्या मैं सूची दूं कि कितनी बार चैनलों को प्रसारण बंद करने का आदेश दिया गया था ? ’’ पूर्व में प्रतिबंधित किए गए कुछ चैनलों के नामों की सूची गिनाते हुए नायडू ने कहा, ‘‘ एएक्सएन को दो महीने के लिए प्रतिबंधित किया गया। एफटीवी को दो महीने के लिए प्रतिबंधित किया गया । एंटर10 को एक दिन के लिए । एबीएन आंध्र ज्योति को सात दिन के लिए । अल जजीरा को भारत का गलत मानचित्र दिखाने के लिए पांच दिनों की खातिर । उन्होंने कहा, ‘‘ ये सब पहले किया गया। अब वे कह रहे हैं कि ऐसा पहली बार हो रहा है, लोकतंत्र की हत्या , आपातकाल की याद आ गयी और भी सब ।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ लोग जानते हैं कि क्या अच्छा है और क्या बुरा और लोग समझते हैं कि देश के व्यापक हित में क्या जरूरी है । इसलिए मैंने देखा कि सोशल मीडिया पर लोगों ने सरकार के रूख का समर्थन किया है , केवल कुछ लोगों को छोड़कर जिन्हें पूरी जानकारी नहीं है ।’’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 5, 2016 3:49 pm

सबरंग