April 30, 2017

ताज़ा खबर

 

12 मिनट देरी से शुरू हुआ कार्यक्रम तो अफसरों पर भड़के राजनाथ सिंह, पूछा- ये ढिलाई क्‍यों?

लोक सेवकों का समारोह अपने निश्चित समय से 12 मिनट देर से शुरू होना ठीक बात नहीं है।

गृह मंत्री ने कहा कि कार्यक्रम में देरी के कुछ कारण रहे हों और हो सकता है कि वे कारण सही भी रहे हों, लेकिन फिर भी यह सोचना चाहिए कि ऐसा क्यों हुआ। (Photo: Twitter)

अफसरों की लेटलतीफी से देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी परेशान हो गए। दरअसल, आज (20 अप्रैल) गृह मंत्री सिविल सर्विस डे पर एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे। इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले भी ज्यादातर अधिकारी आईएएस थे या फिर दूसरी राष्ट्रीय सेवाओं से जुड़े अधिकारी थे। गृह मंत्री तो निश्चित समय से 5 मिनट पहले ही पहुंच गए लेकिन कार्यक्रम अपने निर्धारित समय से 12 मिनट देर से शुरू हुआ था। यह प्रोग्राम सुबह 9:45 बजे शुरू होना था जोकि 9:57 पर शुरू हुआ। 11 वें लोक सेवा दिवस समारोह में गृह मंत्री ने कहा कि लोक सेवकों का समारोह अपने निश्चित समय से 12 मिनट देर से शुरू होना ठीक बात नहीं है। समारोह देर से शुरू होने के बाद भी अधिकारियों का आना जारी है। यह गंभीर चिंता का विषय है।

सिंह ने कहा कि कार्यक्रम में देरी के कुछ कारण रहे हों और हो सकता है कि वे कारण सही भी रहे हों, लेकिन फिर भी यह सोचना चाहिए कि ऐसा क्यों हुआ। सिंह ने कहा कि देश की प्रशासनिक सेवा को सरदार बल्लभ भाई पटेल ने स्टील का ढांचा बताया था। हमें इस बात का गंभीरता से मंथन करना चाहिए कि स्टील का यह ढांचा कहीं कमजोर तो नहीं हो गया है। साथ ही इस बात पर भी विचार होना जरूरी है कि आजादी के बाद शुरू हुये सिविल सेवा के इस सफर में अब तक क्या पाया और इसके आधार पर भविष्य में हमें क्या करना है।

पीएम मोदी जोर देकर बार-बार कहते हैं कि सभी सरकारी अफसरों को टाइम पर अपने दफ्तर पहुंचना चाहिए। साथ ही अफसरों पर नजर रखने के लिए सीनियर मंत्री औचक निरीक्षण भी कर रहे हैं। निरीक्षण वाले दिन ऑफिस में नहीं मिलने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई भी हुई है।गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत जो आज विश्व में बड़े स्तर पर काम कर रहा है तो उसकी वजह देश के अधिकारी भी हैं। आजादी के बाद अब लोगों का जीवन स्तर सुधरा है। लोग चाहते हैं कि उनकी स्थितियों में सुधार हो और ये सुधार नीचे स्तर तक सिर्फ और सिर्फ हमारे अधिकारी ला सकते हैं। समाज के हर व्यक्ति तक सरकार की योजनाअों का लाभ पहुंचे, ये हमारे प्रधानमंत्री का वादा है।

आतंकवाद के मुद्दे पर बोले गृह मंत्री राजनाथ सिंह; कहा- “आतंकवाद कमज़ोर लोगों का हथियार”, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 20, 2017 5:26 pm

  1. M
    manish agrawal
    Apr 21, 2017 at 8:38 am
    Sardar BallabhBhai Patel ke samay,Home Ministry ne badi garima aur jimmedaari se kaam kiya! Sardar Patel ne Home Minister rahate huye, tamaam Raje-Rajwaadon ko milaakar ek united Hindostan banaya lekin aaj ki Home Ministry ka non BJP states par koyi control nahi. chaahe Arvind Kejariwal ho,ya Mamta Benerji, Lalu Prasad Yadav ki family ho,ya U.P.ke Chief Minister ke tenure ke dauraan Akhilesh Yadav,ya phir Kerela ki govt, ye sabhi log Central Govt ki koyi parvaah nahi karte aur khud ko apni state ka Chief Minister nahi balki Khud-mukhtaar Prime Minister samajhte hain me se jyadatar log directly Prime Minister ke baare main hi galat shabd bol chuke hain lekin Home Ministry koyi action nahi le paayi.Hindostan ke Gruh Rajyamantri Kiran Rijijuji, West Bengal e to Mamta Benerji ne unse rahne khaane ka bill maang liya. itni himaaqat ek state ke Chief Minister kee? ki Central Govt ke Gruh Rajyamantri se aisa INSUBORDINATION show kare! Really,aaj jitni kamjor Home Ministry kabhi nahi huyi.
    Reply

    सबरंग