December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने कश्मीरी पंडितों को दिया सुरक्षा का आश्वासन, कहा- वापस लौट आओ घाटी

आतंकवाद के पैर पसारने पर आतंकवादी संगठनों द्वारा कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाए जाने के बाद हजारों कश्मीर पंडित घाटी छोड़ने के लिए मजबूर हुए थे।

Author श्रीनगर | October 20, 2016 12:33 pm

आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने 1990 में आतंकवाद की शुरूआत पर घाटी से विस्थापित होने को मजबूर हुए कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा का आश्वासन देते हुए उन्हें अपने घरों में वापस लौटने के लिए कहा है। संगठन ने कहा कि वह सिख युवकों का एक अलग समूह बनाने की योजना बना रहा है। इस संगठन का स्वयंभू कमांडर जाकिर रशीद भट उर्फ ‘मूसा’ ने मंगलवार को जारी एक वीडियो में कहा, ‘हम कश्मीरी पंडितों से अपने अपने घरों में वापस लौटने का आग्रह करते हैं। हम उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी लेते हैं।’ गौरतलब है कि आतंकवाद के पैर पसारने पर आतंकवादी संगठनों द्वारा कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाए जाने के बाद हजारों कश्मीर पंडित घाटी छोड़ने के लिए मजबूर हुए थे और तभी से वे जम्मू तथा देश के अन्य भागों में रह रहे हैं। मारे जा चुके आतंकवादी बुरहान वानी के ‘उत्तराधिकारी’ ने कहा, ‘उन्हें उन पंडितों को देखना चाहिए जो कभी कश्मीर छोड़कर नहीं गए। उन्हें परेशान या उनकी हत्या किसने की?’

वीडियो में देखें- कश्मीर सरकार ने राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल 12 कर्मचारियों को किया बर्खास्त 

वीडियो में सैन्य पोशाक और एक हथगोले के साथ खेलते नजर आए भट ने एक अनोखी दलील दी कि मुस्लिमों को निशाना बनाने की योजनाबद्ध रणनीति के तहत पंडितों को घाटी छोड़ने के लिए मजबूर किया गया। भट ने पंजाब के एक कालेज से इंजीनियरिंग का कोर्स बीच में छोड़ दिया था और कुछ वर्ष पहले हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था। उसने दावा किया कि सरकार पंजाब में ‘आपरेशन ब्लू स्टार’ की तरह एक अभियान में घाटी में कार्रवाई की योजना बना रही है। भट ने 1.38 मिनट के वीडियो में खुलासा किया कि वह संगठन में सिख युवकों के लिए एक अलग समूह बनाने की योजना बना रहा है।

Read Also: जम्मू-कश्मीर: 12 सरकारी अधिकारियों को ‘राष्ट्रविरोधी’ गतिविधियों के लिए किया गया नौकरी से बर्खास्त

उसने कहा, ‘हमारे सिख भाई हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल होने के लिए हमसे आग्रह कर रहे हैं… हम हर मोर्चे पर उनके साथ हैं और इंशाअल्लाह, हम संगठन में सिखों के लिए एक विशेष समूह बनाने की कोशिश करेंगे और इसे बनाएंगे। कई युवकों ने जेहाद का रास्ता अपनाया है, हथियार छीनकर वे हमारे समूह में शामिल हुए।’

अज्ञात स्थल पर बनाए गए इस वीडियो में धार्मिक नारों वाले दो हरे बैनर और उसके पीछे दोनों तरफ हथियार देखे जा सकते हैं।

Read Also: कश्मीर: छह आतंकियों ने किया बीएसएफ चौकी पर हमला, सेना ने दिया जवाब तो वापस भागे पाकिस्तान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 20, 2016 12:20 pm

सबरंग