ताज़ा खबर
 

यह क्या बोल गई साध्वी देवा ठाकुर: मुसलमानों और ईसाइयों की करानी होगी नसबंदी

हिंदू महासभा की एक नेता ने विवादास्पद बयान देने हुए आज कहा कि मुसलमानों और ईसाइयों की बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए इस समुदाय के लोगों की नसबंदी करानी होगी क्योंकि उनकी बढ़ती जनसंख्या हिंदुओं के लिए खतरा है। महासभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष साध्वी देवा ठाकुर ने आज यहां विश्राम गृह में पत्रकार सम्मेलन में […]
Author April 12, 2015 12:23 pm
मुसलमानों और ईसाइयों की करानी होगी नसबंदी: साध्वी देवा ठाकुर (फोटो स्रोत: फेसबुक)

हिंदू महासभा की एक नेता ने विवादास्पद बयान देने हुए आज कहा कि मुसलमानों और ईसाइयों की बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए इस समुदाय के लोगों की नसबंदी करानी होगी क्योंकि उनकी बढ़ती जनसंख्या हिंदुओं के लिए खतरा है।

महासभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष साध्वी देवा ठाकुर ने आज यहां विश्राम गृह में पत्रकार सम्मेलन में कहा, ‘‘मुसलमान एवं ईसाइयों की आबादी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

इस पर अकुंश लगाने के लिए केंद्र को आपातकाल लगाना होगा और उनकी नसबंदी करानी होगी ताकि इनकी आबादी न बढ़ पाए।’’

उन्होंने हिंदुओ से भी आह्वान किया कि वे अधिक से अधिक बच्चे पैदा करें ताकि उसका विश्व पर प्रभाव हो। उन्होंने एक अन्य विवादास्पद देते हुए कहा, ‘‘मस्जिदों और गिरजाघरों में देवी देवताओं की मूर्तियां लगायी जानी चाहिए।’’ उन्होंने हरियाणा में नाथूराम गोड़से की प्रतिमा लगाने का जोरदार समर्थन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. J
    Jatish Dubey
    Apr 18, 2015 at 4:57 pm
    पृथ्वी पर जीवों की जो ८४ करोड़ यों की व्याख्या भारतीय मानव समाज के पूर्वजों ने अपने शोध और अध्ययन के बाद लिखी हैं. उनमे आज सर्वाधिक संख्या में पैदा होने वाला एकमात्र जीव है. जिसकी आकृति उस प्राणी जैसी होती है जिसे मानव की परिभाषा दी गई है. इसके अंदर समुचित एच आर डी (ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट ) के विकास के आभाव में ये इस धरती पर अन्य जीव प्रजातियों को अपनी मनमानी के लिए तेजी से विलुप्त करता जा रहा है. आज के मानव में सिर्फ समस्याएं हैं समाधान कहीं नहीं. उपलब्ध अन्य यों के जीवों पर गौर करे
    Reply
  2. J
    jeet
    Apr 13, 2015 at 1:37 am
    Pareshani to yahi hi jaha Muslim majority me huye baha dusare dharmo ke logo ka jana muskil ho gya Example ke liye stan Le lo or jyada door ni Bangladesh ko dekh lo or door ni jana to kasmeer dekh lo.ye log ki dum hi abhi inhe secularism yaad aa raha hi hi ji yaad aa rahe hi jab ye majority me aa gye tab sab bhool jayege. Hinduo ki nasbandi ho rahi hi to inki bhi honi chahiye barna koi jarurat ni hinduo ko bhi nasbandi karane ki. Murkh hinduo itihas se kuch to sabak lo.
    Reply
  3. प्रो. रमेश
    Apr 12, 2015 at 1:31 pm
    अच्छी खासी युवतियों को अपनी संस्कृति के मुताबिक गृहस्थ जीवन बिताना छोड़ भारत को सदियों पूर्व मिली संस्कृति की विरासत के खिलाफ ऐसी बेतुकी बयानबाजी क्यों करने लग गयी हैं, ये समाजशास्त्रियों के लिए शोध का बड़ा उम्दा और ज़रूरी विषय है.
    Reply
  4. S
    salman khan
    Apr 12, 2015 at 3:37 pm
    जिस गांधी की मेहनत से आज हमें आज़ाद भारत मिला उस गांधी के सपनो को चूर चूर करने वाले ये नेता खुद तो एक बच्चा पैदा नहीं कर सकते और हमें कहते है खूब बच्चे पैदा करो अरे ये देश के गद्दार नेता हमारी एकता अखंडता को खंडित करना चाहते है ऐसे लोगो के ऊपर प्रतिबन्ध लगा देना चाहिए चाहे वो ओवैसी हो या साध्वी
    Reply
सबरंग