ताज़ा खबर
 

हार्ट ऑफ एशिया: अफ़ग़ान राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी से मिले सरताज अज़ीज़, शांति-विकास-स्थिरता पर चर्चा

युद्ध से जर्जर देश की शांति प्रक्रिया में इस्लामाबाद के कम सहयोगी रवैये पर अफगानिस्तान द्वारा नाराजगी जताए जाने की पृष्ठभूमि में यह द्विपक्षीय वार्ता हुई है।
Author अमृतसर | December 4, 2016 14:16 pm
‘हार्ट ऑफ एशिया’ सम्मेलन में शिरकत करने भारत पहुंचे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज। (PTI Photo/3 Dec, 2016)

विदेश मामलों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने रविवार (4 दिसंबर) को अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी से मुलाकात की और अफगानिस्तान में शांति तथा स्थिरता लाने के तरीकों पर चर्चा किया। यहां चल रहे ‘हार्ट ऑफ एशिया’ सम्मेलन से इतर दोनों में मुलाकात हुई। गनी और अजीज दोनों ही शनिवार (3 दिसंबर) शाम यहां पहुंचे। युद्ध से जर्जर देश की शांति प्रक्रिया में इस्लामाबाद के कम सहयोगी रवैये पर अफगानिस्तान द्वारा नाराजगी जताए जाने की पृष्ठभूमि में यह द्विपक्षीय वार्ता हुई है। पाकिस्तानी सरजमीन से अपनी गतिविधियां चला रहे आतंकवादी समूहों द्वारा अफगानिस्तान में किए जाने वाले आतंकी हमले नहीं रोकने को लेकर भी अफगान सरकार इस्लामाबाद की आलोचना करती रही है। पाकिस्तानी सूत्रों ने कहा, ‘उन्होंने अफगानिस्तान में शांति, विकास और स्थिरता की संभावनाओं पर चर्चा की।’

सम्मेलन से पहले, अफगानिस्तान ने पाकिस्तानी धरती से उत्पन्न आतंकवाद को क्षेत्रीय शांति तथा स्थिरता के लिए ‘सबसे बड़ा खतरा’ बताया और प्रभावी तौर पर आतंकवाद से निपटने के लिए हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में क्षेत्रीय आतंकवाद-निरोधी रूपरेखा पारित करने पर जोर दिया। हार्ट ऑफ एशिया-इस्तांबूल प्रक्रिया 2011 में शुरू हुई और इसमें शामिल होने वाले देश हैं.. पाकिस्तान, अफगानिस्तान, आजरबायजान, चीन, भारत, ईरान, कजाख्स्तान, किर्गिजस्तान, रूस, सऊदी अरब, ताजिकिस्तान, तुर्की, तुर्कमेनिस्तान और संयुक्त अरब अमीरात। इसका गठन अफगनिस्तान और उसके पड़ोसी देशों के बीच रक्षा, राजनीतिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने के लिए किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग