ताज़ा खबर
 

हंदवाड़ा व कुपवाड़ा हिंसा के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा: महबूबा

महबूबा मुफ्ती से हंदवाड़ा एवं कुपवाड़ा में हुई हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई के बारे में पूछा गया जिसमें पांच लोगों की जान गयी थी।
Author जम्मू | July 13, 2017 13:32 pm
पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार (18 अप्रैल) को वादा किया कि हंदवाड़ा एवं कुपवाड़ा घटनाओं में दोषी पाए गये लोगों को कडी सजा दिलवाई जाएगी। साथ ही उन्होंने युवाओं से शांति बहाल करने में सहयोग करने की यह कहते हुए अपील की कि राज्य के विकास के लिए यह पूर्व शर्त है। मुख्यमंत्री ने यहां एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं अपने लोगों विशेषकर युवाओं से अपील करूंगी कि जब भी अन्याय होगा, कठोर कदम उठाया जाएगा तथा कड़ी सजा दी जाएगी।’’

महबूबा से हंदवाड़ा एवं कुपवाड़ा में हुई हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई के बारे में पूछा गया जिसमें पांच लोगों की जान गयी थी। उन्होंने कहा कि राज्य में शांति कायम रखना विकास के लिए एक पूर्व शर्त है। यदि यह गायब रही तो आम आदमी को बोझ उठाना पडेगा।

महबूबा ने कहा, ‘‘यदि शांति होगी तो विकास, खुशहाली एवं पर्यटन होगा तथा लोग समृद्ध जीवन व्यतीत करेंगे। खुदा माफ करे, अगर शांति नहीं हुई तो हमारे लोगों को ही सबसे अधिक झेलना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसीलिए मैं युवाओं एवं उनके अभिभावकों और उनके परिवारों से जम्मू कश्मीर में शांति बहाल करने की अपील करती हूं ताकि राज्य में विकास हो सके और राज्य की समस्याएं दूर हो सकें।’’

जम्मू कश्मीर के उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने आरोप लगाया कि कश्मीर घाटी में हाल में हिंसा में तेजी के पीछे एक साजिश है। उन्होंने कहा, ‘‘कुपवाड़ा एवं हंदवाड़ा जैसे क्षेत्रों में शांति बिगाड़ने के लिए निश्चित तौर पर एक साजिश है। ये क्षेत्र तब भी शांतिपूर्ण रहे थे जब अन्य भागों (घाटी) में अशांति थी।’’

कार्यक्रम में उपस्थित सिंह ने कहा, ‘‘राष्ट्र विरोधी तत्व, जन विरोधी तत्व अफवाह फैलाने में कामयाब हो गये जिसके चलते अंतत: दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति (हिंसा) हुई।’’ उन्होंने कहा कि सभी की आकांक्षाएं तभी पूरी होंगी जब राज्य में शांति होगी तथा शांति कायम करना प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है।

सिंह ने कहा, ‘‘हम मुख्यमंत्री के साथ हंदवाड़ा गये थे और वहां निश्चित तौर पर तनाव है। कुपवाड़ा एक शांतिपूर्ण इलाका है। यह हिंसा बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार इस बात को सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही है कि इस तरह की स्थिति भविष्य में उत्पन्न न हो।’’

यह पूछे जाने पर कि अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ क्या कार्रवाई होगी, उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर कानून अपना काम करेगा तथा एक बार शांति बहाल हो जाने के बाद हर चीज पर ध्यान दिया जाएगा।’’ कश्मीर में गत मंगलवार को सेना के एक सिपाही द्वारा एक लड़की से कथित छेड़छाड़ को लेकर हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गया था। बहरहाल, लड़की ने बाद में इस बात से इंकार कर दिया कि उसके साथ छेड़छाड़ की गयी।

सुरक्षा बलों द्वारा हिंसक प्रदर्शनकारियों पर की गयी गोलीबारी में एक महिला सहित तीन लोग मंगलवार को मारे गये थे। बुधवार को दग्रमूला में तथा शुक्रवार को नाथनुसा में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सुरक्षा बलों की विभिन्न कार्रवाई में दो और लोग मारे गये थे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग