ताज़ा खबर
 

ग्रेटर नोएडा सेक्स रैकेट: मीडिया कर्मचारी, पुलिस विभाग के लोगों सहित कई लोगों के नाम उजागर

ग्रेटर नोएडा के चाई सेक्टर में पकड़े गए सैक्स रैकेट में मीडिया कर्मचारी और प्राधिकरण के अफसरों समेत पुलिस विभाग के लोगों के नाम आने से पूरे ग्रेटर नोएडा को शर्मशार कर दिया है। एक पुलिस कर्मचारी, एक मीडिया और एक प्राधिकरण के अफसर का नाम खुलासा होने से खलबली मची है। इस सेक्स रैकेट […]
Author July 22, 2015 17:23 pm

ग्रेटर नोएडा के चाई सेक्टर में पकड़े गए सैक्स रैकेट में मीडिया कर्मचारी और प्राधिकरण के अफसरों समेत पुलिस विभाग के लोगों के नाम आने से पूरे ग्रेटर नोएडा को शर्मशार कर दिया है। एक पुलिस कर्मचारी, एक मीडिया और एक प्राधिकरण के अफसर का नाम खुलासा होने से खलबली मची है। इस सेक्स रैकेट में अभी कई मीडिया कर्मचारी रमन ठाकुर, पुलिस कर्मचारी धर्मवीर और प्राधिकरण के अफसर का नाम खुलासा हुआ है। प्राधिकरण का यह अफसर बड़े पद पर विराजमान है।

पुलिस जांच में एक बिल्डर के भाई का नाम भी खुलासा हुआ और उसका भाई थाने तक जा पंहुचा । पर उसे चुपचाप छुड़ा लिया गया। दादरी पुलिस उपाधीक्षक के मुताविक इस मामले में कई मीडिया कर्मचारी, अफसर और पुलिस महकमें के लोग शामिल है। इस रैकेट के तार नोएडा से भी जुड़े हैं। जल्दी ही इस रैकेट में शामिल लोगों का खुलासा कर दिया जाएगा। इस सेक्स रैकेट की जांच जारी है।

गौरतलब है कि चाई सेक्टर में सेक्स रैकेट के आरोपियों को कासना पुलिस ने जेल भेज दिया है। वहीं रैकेट से जुडे सिपाही धर्मवीर को लाइन हाजिर क दिया है। जबकि दो पत्रकारों के नाम एफआईआर में शामिल कर दिए हैं। जबकि एक इलैक्ट्रोनिक मीडिया के पत्रकार रमन के नाम पुलिस ने खुलासा किया है। इसके अलावा रैकेट से जुड़े अधिकारियों व पत्रकारों के नामों की फेहरिस्त लंबी होती जा रही है।

पुलिस सूत्रों के मुताविक इस रैकेट में प्रिंट मीडिया के कई ओर नाम आ रहे है। जबकि दो मिडिया कर्मचारियों के नाम रपट में दर्ज करा दिए हैं। सेक्स रैकेट में पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में प्राधिकरण के एक अफसर का भी नाम लिया गया है। वह आला अफसरों से अपने काम निकलवाने व पद पर बने रहने के लिए रैकेट में शामिल होने वाली नई-नई युवतियों को उनके लिए सप्लाई करता था। जिसकेचलते वह हर सरकार में मलाईदार पद पर बना रहता है।

इसके अलावा एक बिल्डर के भाई का नाम भी पूछताछ में सामने आया है। वह इसी ग्रुप के साथ रहता है इन लड़कियों के पास आता-जाता था। प्राधिकरण अफसर और इस बिल्डर के भाई के संबंध सीधे रैकेट की सरगना अन्नू से बताए जा रहे हैं। जिसके चलते ये लोग अक्सर अन्नू के नोएडा सेक्टर-92 के फ्लैट पर भी आते जाते थे। पुलिस सूत्रों के मुताविक बिल्डर के भाई ने शराब के नशे में भीख मांगने वाली महिला से अश्लील हरकत की थी, जिसके चलते उसे हिरासत में लिया गया था। बाद में सेक्स रैकेट से जुड़े उसके साथी पत्रकार अपने रसूख का हवाला देते हुए आरोपी बिल्डर के भाई को थाने से छुड़ा ले गए थे।

दादरी के पुलिस उपाधीक्षक अनुराग सिंह ने बताया कि इस मामले की जांच उनके पास है। जांच में पाए गए किसी भी दोषी को बख्शा नही जाएगा। चाहे वह पत्रकार हो या फिर पुलिस अफसर और कितना बड़ा अधिकारी व प्रापर्टी बिल्डर का भाई क्यों न हो। हालांकि अभी तक पकड़े गए चारों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। मेरठ मंडल की पुलिस भी इस मामले में आरोपियों से पूछताछ कर चुकी है। इस सेक्स रैकेट से जुड़े कई लोगों के नाम सामने आ रहे हैं।

सभी नामों को जांच में शामिल करते हुए सख्त कार्रवाई की जा रही है। जांच में ऐसे आरोपियों को ही जेल भेजा जाएगा। जो सेक्स रैकेट में किसी भी रुप से जुड़े हो। फिल हाल एक पत्रकार का नाम खुलासा कर दिया गया है और जल्दी ही कुछ ओर लोगों के नाम पर जांच चल रही है। जिसमें प्राधिकरण, बिल्डर, प्रिंट मीडिया और इलैक्ट्रोनिक के पत्रकारों के नाम सामने आए हैं। प्राधिकरण समेत पुलिस महकमें के नाम पर भी जांच जारी है। चर्चा है कि दो बड़े समाचार पत्रों और एक स्थानीय समाचार पत्र के मीडिया कर्मचारियों के नाम भी सामने आए हैं। इसके अलावा प्राधिकरण अफसर और एक बिल्डर के भाई का नाम भी सामने आया है। हालांकि अभी तक पुलिस मुख्य सरगना को पकड़ नही पाई है। वह फरार है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.