ताज़ा खबर
 

सरकार का कोहिनूर हीरे पर U-Turn: एक दिन पहले बताया था गिफ्ट, अब चाहती है वापस

सोमवार को केंद्र ने कोर्ट में कहा था कि अगर हम कोहिनूर जैसी बहुमूल्य वस्तुएं पर अपना दावा पेश करेंगे, तो हर एक दूसरा देश हमारे देश में मौजूद चीजों पर दावे पेश करेंगे और ऐसे में हमारे सारे म्यूजिम खाली हो जाएंगे।
Author नई दिल्ली | April 20, 2016 10:18 am
सुप्रीम कोर्ट एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें मांग की गई है कि सरकार ब्रिटेन से 20 करोड़ डॉलर से अधिक कीमत का कोहिनूर हीरा वापस लाने के लिए कदम उठाए। (Photo Source: Reuters)

सरकार ने बुधवार रात कोहिनूर हीरे के मुद्दे पर पलटी मारते हुए कहा कि वह बेशकीमती हीरे को वापस लाने के लिए पूरा प्रयास करेगी, हालांकि पहले उसने उच्चतम न्यायालय में कहा था कि इसे ब्रिटिश शासकों द्वारा ‘न तो चुराया गया था और न ही जबरन छीना’ गया था, बल्कि पंजाब के शासकों ने इसे दिया था। सरकार ने एक बयान में कहा कि मीडिया में ‘जो बात गलत ढंग से पेश की जा रही है’ उसके विपरीत उसने अभी अपनी राय से अदालत को अवगत नहीं कराया है।

Read Also: कोहिनूर हीरा कैसे पहुंचा ब्रिटेन और उससे जुड़ी कुछ अहम बातें

इससे एक दिन पहले सॉलीशीटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि यह नहीं कहा जा सकता कि कोहिनूर को चुराया अथवा जबरन ले जाया गया है क्योंकि इसे महाराजा रंजीत सिंह के उत्तराधिकारी ने ईस्ट इंडिया कंपनी को सिख योद्धाओं की मदद की एवज में 1849 में दिया था। सोमवार को केंद्र ने कोर्ट में कहा था कि अगर हम कोहिनूर जैसी बहुमूल्य वस्तुएं पर अपना दावा पेश करेंगे, तो हर एक दूसरा देश हमारे देश में मौजूद चीजों पर दावे पेश करेंगे और ऐसे में हमारे सारे म्यूजिम खाली हो जाएंगे। केंद्र सरकार के इस रुख का उनकी सहयोगी दल शिरोमणी अकाली दल सहित कई अन्य पार्टियों ने विरोध जताया था।

Read Also: कोहिनूर न तो चुराया गया और न जबरदस्‍ती भारत से ले जाया गया: केंद्र सरकार का सुप्रीम कोर्ट में जवाब

आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस मुद्दे पर आई खबरें ‘तथ्यों पर आधारित नहीं हैं’। इसमें कहा गया है कि सरकार कोहिनूर को मैत्रीपूर्ण ढंग से कोहिनूर हीरे को वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास करने के अपने संकल्प को दोहराती है।

सुप्रीम कोर्ट एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें मांग की गई है कि सरकार ब्रिटेन से 20 करोड़ डॉलर से अधिक कीमत का कोहिनूर हीरा वापस लाने के लिए कदम उठाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग