ताज़ा खबर
 

गैंगरेप की शिकार लड़की ने की आत्‍महत्‍या, दो पुलिसकर्मी और डॉक्‍टर ने छह महीने तक किया था शोषण

गैंगरेप का यह मामला पिछले साल जनवरी में उस वक्‍त सामने आया था, जब गैंगरेप की शिकार लड़की को सुपेला के लाल बहादुर शास्‍त्री अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था।
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

छत्‍तीसगढ़ में गैंगरेप की शिकार 21 साल की लड़की ने आत्‍महत्‍या कर ली है। दो कॉन्‍स्‍टेबल और एक डॉक्‍टर ने उसके साथ छह महीने तक बलात्‍कार किया था। इस संबंध में जनवरी 2015 को मुकदमा भी दर्ज कराया गया था। पुलिस के मुताबिक, लड़की ने भिलाई स्थित अपने घर पर आत्‍महत्‍या की है, जहां से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसे पढ़कर लगता है कि महिला को न्‍याय मिलने की उम्‍मीद नहीं थी, इसलिए उसने आत्‍महत्‍या कर ली।

जानकारी के मुताबिक, जिन दो कॉन्‍स्‍टेबल पर लड़की के साथ बलात्‍कार का आरोप है, उनके नाम- सौरभ भक्‍ता और चंद्रप्रकाश पांडे हैं, जबकि आरोपी डॉक्‍टर का नाम गौतम पंडित है। पुलिस ने इस मामले में दोनों कॉन्‍स्‍टेबल को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि डॉक्‍टर गौतम पांडे ने खुद ही सरेंडर कर दिया था। ये तीनों इस समय जेल में हैं। लड़की ने सुसाइड नोट में अपनी मौत के लिए सौरभ भक्‍ता, चंद्रप्रकाश पांडे और डॉक्‍टर गौतम पंडित को जिम्‍मेदार ठहराया है। उसने यह भी लिखा है कि उसे न्‍याय मिलने की कोई उम्‍मीद नहीं है।

गैंगरेप का यह मामला पिछले साल जनवरी में उस वक्‍त सामने आया था, जब गैंगरेप की शिकार लड़की को सुपेला के लाल बहादुर शास्‍त्री अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। जानकारी के मुताबिक, लड़की इनके चंगुल में 2014 में फंसी थी, जब वह इलाज के लिए डॉक्‍टर के पास गई थी। आरोप है कि इसी दौरान उसके साथ गैंगरेप किया गया था। तीनों आरोपियों ने गैंगरेप के दौरान वीडियो भी बनाया था और वे लड़की को ब्‍लैकमेल करते रहे। पीडि़त उस वक्‍त कॉलेज की स्‍टूडेंट थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Sridhar Varadarajan
    Jan 30, 2016 at 10:00 am
    source=JansattaHP&utm_medium=referral&utm_campaign=update_story
    (0)(0)
    Reply
    1. Sridhar Varadarajan
      Jan 30, 2016 at 9:58 am
      यही है इंडियन Govt 's वेल एस्टैब्लिशड/organised वेल प्रोटेक्टेड लाइसेंस्ड क्रिमिनल पुलिस सिस्टम हु रन tyranny औरतों के खिलाफ हर दिन अलग अलग पुलिस स्टेशंस में देश भर, विथ नो देतेर्रेंट एक्शन, encouraging them कीप डूइंग same.विथ नो एकाउंटेबिलिटी, नो पनिशमेंट. क्या यही है भारतीय संस्कार, भारत की गौरव, देश के कानून और जुडिशरी अपना Govt.अपने जनता को यही दे रही है. हमारा देश ऐसे जलील लोगोंके लिए महान जरूर है. क्या यही शर्मनाक परिस्थिति के लिए आजादी मिला है हमें. कांग्रेस चलाये /बीजेपी क्या फरक
      (0)(0)
      Reply
      1. Sridhar Varadarajan
        Jan 30, 2016 at 10:00 am
        यही है इंडियन Govt 's वेल एस्टैब्लिशड/organised वेल प्रोटेक्टेड लाइसेंस्ड क्रिमिनल पुलिस सिस्टम हु रन tyranny औरतों के खिलाफ हर दिन अलग अलग पुलिस स्टेशंस में देश भर, विथ नो देतेर्रेंट एक्शन, encouraging them कीप डूइंग same.विथ नो एकाउंटेबिलिटी, नो पनिशमेंट. क्या यही है भारतीय संस्कार, भारत की गौरव, देश के कानून और जुडिशरी अपना Govt.अपने जनता को यही दे रही है. हमारा देश ऐसे जलील लोगोंके लिए महान जरूर है. क्या यही शर्मनाक परिस्थिति के लिए आजादी मिला है हमें. कांग्रेस चलाये /बीजेपी क्या फरक
        (0)(0)
        Reply
        सबरंग