ताज़ा खबर
 

गजेंद्र सिंह के परिवार को केजरीवाल की माफ़ी मंज़ूर नहीं, उठाई सीबीआई जांच की मांग

दिल्ली मेंं जंतर मंतर पर आप की रैली के दौरान खुदकशी करने वाले किसान गजेंद्र सिंह के परिजनों ने इस मामले के पीछे साजिश की आशंका जताते हुए कहा कि वे (गजेंद्र) ऐसा कर...
Author April 25, 2015 11:55 am
गजेंद्र की मां ने कहा, ‘माफी मांगने से अब क्या होगा। मेरे पूत (बेटे) की तो जान चली गई।’ (फ़ोटो-पीटीआई)

दिल्ली मेंं जंतर मंतर पर आप की रैली के दौरान खुदकशी करने वाले किसान गजेंद्र सिंह के परिजनों ने इस मामले के पीछे साजिश की आशंका जताते हुए कहा कि वे (गजेंद्र) ऐसा कर ही नहीं कर सकते और उन्हें किसी ने उकसाया होगा। राजस्थान के दौसा जिले के नांगल झामरवाड़ा के रहने वाले गजेंद्र की मां ने कहा, ‘माफी मांगने से अब क्या होगा। मेरे पूत (बेटे) की तो जान चली गई।’

गजेंद्र की बहन रेखा ने कहा कि जब मेरा भाई पेड़ पर था तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दो मिनट के लिए अपना भाषण और रैली क्यों नहीं रोकी। मेरे भाई को क्या दुख था जो वह ऐसा करता। उसे जरूर किसी ने उकसाया है। इसमें किसी की साजिश है। मेरा भाई ऐसा कभी कर ही नहीं सकता था। गजेंद्र की पुत्री मेधा ने कहा कि पिताजी फसल खराब होने के कारण परेशान जरूर थे लेकिन ऐसा लगता नहीं था कि वे खुदकशी कर लेंगे। उसने कहा कि गजेंद्र के पास से मिले पत्र की लिखावट उसके पिता की नहीं है। पिता जी आप की रैली में दिल्ली गए थे। पता नहीं, उनको क्या हो गया।

गजेंद्र के चाचा गोपाल सिंह (गांव के सरपंच) ने घटना की सीबीआइ जांच की मांग की। उन्होंने कहा- हमें इस घटना के बारे में संदेह है और हम मामले की सीबीआइ जांच की मांग करते हैं। हमने (राज्य के) मंत्री राजेंद्र राठौर से कहा है कि वे इस मामले को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के समक्ष उठाएं।

इस बीच, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री राजेंद्र राठौर ने भाजपा की तरफ से पीड़ित परिवार को चार लाख रुपए का चेक सौंपा। गजेंद्र के चाचा ने कहा कि परिवार ने उनके लिए ‘शहीद’ का दर्जा मांगा है और हम चाहते हैं कि विपत्ति का सामना कर रहे किसानों को राहत प्रदान करने के लिए शुरू की जाने वाली योजना का नाम उनके नाम पर रखा जाए।

परिवार ने गजेंद्र के बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करने की व्यवस्था करने और उनके परिवार के सदस्यों में से किसी एक को सरकारी नौकरी प्रदान करने पर भी राज्य के मंत्री के साथ चर्चा की। गोपाल सिंह ने बताया कि मंत्री ने पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया कि वह इस मुद्दे को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के समक्ष उठाएंगे। गजेंद्र के परिवार में उनकी पत्नी और तीन बच्चे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग