ताज़ा खबर
 

शहीद मेजर के पिता ने कहा- अब हो ही जाए युद्ध, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगे

शहीद मेजर कमलेश पाण्डेय के पिता ने कहा, "...केवल युद्ध से ही 15-20 साल शांति रह सकती है।"
कश्‍मीर में सुरक्षा बलों पर पत्‍थर फेंकते कश्‍मीरी युवा। (PTI FILE PHOTO)

गुरुवार (तीन अगस्त) को जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के संग मुठभेड़ में मारे गए भारतीय सेना के मेजर कमलेश पाण्डेय ने पाकिस्तान के साथ युद्ध करके उसे सबक सिखाने की बात कही है। 26 वर्षीय कमलेश पाण्डेय के पिता मोहन चंद्र पाण्डेय खुद भी सेना से रिटायर हुए हैं। मोहन चंद्र पाण्डेय ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में हिंसा खत्म करने के लिए पाकिस्तान के साथ युद्ध जरूरी हो गया है। अपने बेटे के अंतिम संस्कार से पहले मीडिया से बात करते हुए मोहन चंद्र पाण्डेय ने कहा, “पाकिस्तान के साथ युद्ध से ही इसका अंत हो सकता है। युद्ध के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। केवल युद्ध से ही 15-20 साल शांति रह सकती है।” शुक्रवार (चार अगस्त) को कमलेश पाण्डेय के पैतृक निवास हल्द्वानी में पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया।

कमलेश पाण्डेय भारतीय सेना के उन तीन जवानों में थे जो गुरुवार (तीन अगस्त) को आतंकवादियों के संग मुठभेड़ में जख्मी हो गए थे। तीन सैनिकों का श्रीनगर स्थित 92 मिलिट्री अस्पताल में निधन हो गया। मेजर पाण्डेय के अलावा तेनजिन और कृपाल सिंह। जब मेजर कमलेश पाण्डेय का पार्थिव शरीर उत्तराखंड पहुंचा तो स्थानीय लोगों ने “पाकिस्तान मुर्दाबाद” के नारे लगे। हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने मेजर कमलेश पाण्डेय समेत तीनों जवानों की हत्या की जिम्मेदारी ली है।

गुरुवार (तीन अगस्त) को जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले के जाईपोरा इलाके में इंटेलिजेंस से खबर मिलने के बाद सेना ने देर रात सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी। घायल हुए जवानों को श्रीनगर में अस्पताल पहुंचाया गया। अस्पताल में मेजर और जवान की मृत्यु हो गई। वहीं बुधवार को ही कुलगाम जिले में भी आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई है। कुलगाम मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए थे।

कश्मीर में आठ जुलाई 2016 को हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी के एक मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से ही हिंसा का दौर जारी है। घाटी में पिछले एक साल में सौ से ज्यादा नागरिकों और सैनिकों की मौत हो चुकी है। मंगलवार (एक अगस्त) को घाटी में सेना ने ऑपरेशन ऑल आउट के तहत अबु दुजाना को मार गिराया। दुजाना इस मुहिम के तहत मारा जाने वाला 119वां आतंकी था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग