ताज़ा खबर
 

बेबस बाप न पढ़ा सका तो बिटिया ने खुद को लगाई आग

ठेला लगा कर सब्जी बेचने वाले मान सिंह ने सपने में भी नहीं सोचा था कि उसकी 17 साल की बेटी ज्योति अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डाल कर जान दे देगी। मान सिंह ने ज्योति को इंटर के बाद आगे की पढ़ाई न करने के लिए कहा था। यह घटना मथुरा में प्रभात […]
Author July 22, 2015 17:21 pm

ठेला लगा कर सब्जी बेचने वाले मान सिंह ने सपने में भी नहीं सोचा था कि उसकी 17 साल की बेटी ज्योति अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डाल कर जान दे देगी। मान सिंह ने ज्योति को इंटर के बाद आगे की पढ़ाई न करने के लिए कहा था। यह घटना मथुरा में प्रभात नगर कालोनी की है।

जानकारी के मुताबिक ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के नारे से बेखबर मानसिंह ने आर्थिक कारणों से अपनी बेटी ज्योति को बीए में दाखिला दिलाने से मना कर दिया था। ज्योति ने इसी साल प्रेम देवी इंटर कालेज से अच्छे नंबरों से इंटर किया था। वह डिग्री कालेज में दाखिले के लिए पिता से कह रही थी लेकिन मान सिंह ने पढ़ाई के लिए पैसे न होने के कारण आगे की पढ़ाई न करने की सलाह दी। पिता की इस बात से आपा खो बैठी ज्योति ने रसोई में जाकर मिट्टी के तेल की कैन निकाली और अपने शरीर पर उड़ेल कर आग लगा ली।

बिटिया को आग की लपटों में जलता देख बेबस पिता के होश उड़ गए। मान सिंह ने बताया कि जैसे-तैसे वह अपने परिवार का पालन पोषण करता है। वह ज्योति की आगे की पढ़ाई का खर्च न उठा पाने में असमर्थ था। उसने बेटी को सारी स्थिति बताई लेकिन उसकी समझ में यह बात नहीं आई। मान सिंह अब पछता रहे हैं। उसने बताया कि ज्योति पुलिस की नौकरी में जाना चाहती थी।

इस घटना की सूचना मिलने पर सीओ सिटी चक्रपाणि त्रिपाठी, शहर कोतवाल सीबी सिंह राठौर, चौकी प्रभारी विकास तोमर समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया।

अशोक बंसल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.