ताज़ा खबर
 

स्मृति ईरानी केस: गोवा पुलिस के समक्ष पेश नहीं हुए फैबइंडिया के सीईओ, एमडी

फैबइंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक ट्रायल रूम में कथित ताकझांक मामले की जांच कर रहे अधिकारी के समक्ष आज पेश नहीं हो पाए। इस बीच पुलिस ने प्रतिष्ठान के 11 कर्मचारियों को पूछताछ के लिए सम्मन जारी किया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी पिछले सप्ताह कैंडोलिम स्थित फैबइंडिया के […]
Author April 7, 2015 13:51 pm
स्मृति ने अपने अमेठी दौरे पर तिलोई क्षेत्र के राजा फत्तेपुर गांव में संवाददाताओं से कहा कि नेहरू-गांधी परिवार की तीन पीढ़ियों ने अमेठी के लिये कुछ खास काम नहीं किया।

फैबइंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक ट्रायल रूम में कथित ताकझांक मामले की जांच कर रहे अधिकारी के समक्ष आज पेश नहीं हो पाए। इस बीच पुलिस ने प्रतिष्ठान के 11 कर्मचारियों को पूछताछ के लिए सम्मन जारी किया है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी पिछले सप्ताह कैंडोलिम स्थित फैबइंडिया के एक स्टोर में गई थीं और उन्होंने आरोप लगाया था कि वहां ट्रायल रूम की ओर केंद्रित सीसीटीवी कैमरा लगा है जिसके बाद प्रतिष्ठान के कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

गोवा अपराध शाखा ने कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुब्रत दत्त और प्रबंध निदेशक विलियम बिसेल को समन जारी करते हुए उनसे आज सुबह 10 बजे पेश होने को कहा था।

पुलिस महानिरीक्षक सुनील गर्ग ने कहा, ‘‘ कंपनी के अधिकारी पेश नहीं हो पाए। उनके वकील ने उनके पेश होने के लिए और अधिक समय मांगा है। हमें देखना होगा कि उन्हें क्या समय दिया जाता है। उन्होंने कल अपने प्रतिनिधि को भेजा था जिससे जांच अधिकारी ने पूछताछ की थी।’’

फैबइंडिया का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील राजू पॉलेकर ने कहा, ‘‘वे नहीं आए। हम फैबइंडिया के स्टोर प्रबंधक की अंतरिम जमानत मंजूर करने के जिला अदालत के निर्णय का अध्ययन करने के लिए इंतजार कर रहे हैं।’’

जिला अदालत ने स्टोर प्रबंधक चैत्राली सावंत की अंतरिम जमानत कल मंजूर कर ली थी। इस बीच पुलिस ने प्रतिष्ठान के 11 कर्मचारियों को आज पूछताछ के लिए समन जारी किया है।

पुलिस अधीक्षक (अपराध शाखा) कार्तिक कश्यप ने कहा, ‘‘फैबइंडिया के 11 कर्मचारियों को आज अपराह्न पूछताछ के लिए समन जारी किया गया है।’’

पिछले सप्ताह कैंडोलिम स्थित फैब इंडिया के एक स्टोर पहुंचीं स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया था कि वहां ट्रायल रूम की ओर केंद्रित सीसीटीवी कैमरा लगा है। इसके बाद भारतीय दंड संहिता की धारा 354 सी और धारा 509 तथा आईटी अधिनियम की धारा 66ई के तहत मामला दर्ज करते हुए स्टोर के चार कर्मचारियों परेश भगत, राजू पायांचे, प्रशांत नाइक और करीम लखानी को गिरफ्तार किया गया था। बाद में हालांकि एक स्थानीय अदालत ने उन्हें जमानत दे दी थी।

फैबइंडिया ने इन आरोपों का खंडन किया है कि उसने अपने स्टोरों में कैमरे छुपाएं हैं। कंपनी ने इससे पहले बयान जारी करके कहा था कि कैंडोलिम स्टोर में लगे जिस कैमरे पर सवाल उठ रहे हैं, वह जांच प्रणाली का हिस्सा था और इसे खरीदारी वाले क्षेत्र में लगाया गया था।

गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पार्सेकर ने भी फैबइंडिया का बचाव करते हुए कहा था कि स्टोर के कुछ कर्मचारियों की करतूत के लिए कंपनी को दोषी नहीं ठहराया जा सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग