ताज़ा खबर
 

ईवीएम हैकिंग का आरोप लगाने वाली पार्टियों को कल चुनाव आयोग देगा जवाब, होगा दो घंटे का लाइव डेमो

दिल्ली के विज्ञान भवन में दिए जाने वाले दो घंटे के इस लाइव डेमो के साथ ही चुनाव आयोग पत्रकार वार्ता भी करेगा।
यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर विधान सभा के नतीजे आने के बाद से ही कई राजनीतिक दल ईवीएम मशीन पर सवाल खड़े कर रहे हैं। (Photo Source: C R Sasikumar)

भारतीय चुनाव आयोग शनिवार (20 मई) को मतदान के लिए प्रयोग होने वाली इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को हैक किया जा सकात है या नहीं इसका लाइव डेमो देगा। दिल्ली के विज्ञान भवन में दिए जाने वाले दो घंटे के इस लाइव डेमो के साथ ही चुनाव आयोग पत्रकार वार्ता भी करेगा। उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर विधान सभा के नतीजे आने के बाद से ही कई राजनीतिक दल ईवीएम मशीन पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

आम आदमी पार्टी (आप), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि विधान सभा चुनावों और दिल्ली नगरपालिका के चुनावों में ईवीएम में धोखाधड़ी करके भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जीत हासिल की है। इन दलों का आरोप है कि कई ईवीएम मशीनों में चाहे किसी भी पार्टी को वोट दिया जाए वो जाता भाजपा को है। हाल ही में आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली विधान सभा में एक डमी ईवीएम को लाइव डेमो में मोबाइल से भेजे कोड़ द्वारा हैक करके दिखाया था।

चुनाव आयोग ने पिछले हफ्ते सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की थी और ईवीएम समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की थी। आम आदमी पार्टी ने दावा किया कि चुनाव आयोग ने उसके “हैकाथॉन” (हैक करने की प्रतियोगिता) आयोजित करने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। ईवीएम पर सवाल उठाने वाले राजनीतिक दलों की मांग है की निष्पक्ष चुनाव के लिए आयोग मतपत्र से चुनाव करवाए।

चुनाव आयोग ने साफ किया है कि 2019 का लोक सभा चुनाव अत्याधुनिक ईवीएम मशीनों से होगा जिनमें वीवीपैट की सुविधा होगी। वीवीपैट ईवीएम में वोट देने के साथ ही एक कागज की पर्ची निकलती है जिस पर वोटर देख सकता है कि उसका वोट किस पार्टी को गया। वीवीपैट से निकलने वाली पर्ची कुछ देर बाद उसके साथ लगे डिब्बे में गिर जाती है। पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव में कुछ मतदान केंद्रों पर वीवीपैट ईवीएम मशीन का इस्तेमाल हुआ था। आयोग के अनुसार 2019 तक सारी ईवीएम मशीनें वीवीपैट से लैस होंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग