ताज़ा खबर
 

वोटर्स को घूस देेने पर चुनाव अमान्य हो: चुनाव आयोग का केंद्र सरकार को प्रस्ताव

चुनाव आयोग ने चुनावों को स्वच्छ बनाने और राजनीतिक दलों की फंडिंग को पारदर्शी बनाने के संबंध में केंद्र सरकार को 47 प्रस्ताव भेजे हैं।
Author नई दिल्ली | December 4, 2016 10:06 am
मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी। (Source: फाइल फोटो)

चुनाव के समय काले धन के इस्तेमाल और कई गैरकानूनी गतिविधोयों को खत्म करने की कोशिश में चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को नए प्रस्ताव भेजे हैं। चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार से प्रस्ताव में राजनीतिक दलों द्वारा वोटर्स को रिझाने की कोशिश में उन्हें रिश्वत देने जैसे मामलों में चुनाव आयोग को वोटिंग अमान्य घोषित करने की मांग की है। इस विषय पर चुनाव आयोग ने कानून मंत्रालय को पत्र लिखकर जवाब मांगा है। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने 3 नवंबर को  ‘नेशनल इंटरेक्टिव कॉन्फ्रेंस ऑफ इलेक्टोरल लॉ’ को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि आयोग के विधि शोधार्थी कानूनी विशेषज्ञों और संस्थानों के साथ मिलकर जनप्रतिनिधि कानून की विस्तृत समीक्षा की जरूरत पर गौर करने के लिए काम कर रहे हैं।

नसीम जैदी ने यह भी कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करना और  स्वच्छ चुनावी प्रक्रिया को बनाए रखना ही चुनाव आयोग का उद्देशय है। “इलेक्टोरल रिफोर्म्स” को जैदी ने स्वच्छ चुनावी प्रक्रिया के क्रियान्वयन के लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र बताया। उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव सुधार एक अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्र है जिस पर बहुत व्यवस्थित तरीके से गौर करने की जरूरत है। हम कानून बनाने के लिए समय समय पर आयोग द्वारा सुधार संबंधी 47 प्रस्तावों को भेजकर खुश हैं।’’ इन प्रस्तावों में राजनीति में आपराधिकरण को खत्म करने, काले धन के इस्तेमाल को समाप्त करने, राजनीतिक दलों की फंडिंग को पारदर्शी बनाने, पेड न्यूज को आपराधिक श्रेणी में डालने और वोटों के लिए

मतदाताओं को रिश्वत देने जैसे मामलों को आपराधिक श्रेणी में डालने की मांग की है। इसके अलावा चुनाव आयोग ने रिश्वतखोरी, पैसे के गलत इस्तेमाल और बूथ कैप्चरिंग जैसे मामले पाए जाने पर चुनावों को अमान्य घोषित करने की पावर्स की भी मांग की है।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Sidheswar Misra
    Dec 5, 2016 at 3:13 pm
    वाह चुनाव आयोग नोकरशाह नेता जीवन भर घुस ले मतदाता पांच वर्ष में एक बार न ले ये कैसी पाबन्दी।
    (0)(0)
    Reply