ताज़ा खबर
 

Eid 2016: 7 जुलाई को होगी ईद, जामा मस्जिद के शाही इमाम ने किया एलान

रमजान के महीने के खत्म होने पर ईद-उल-फितर मनाया जाता है।
ईद के दिन मुस्लिम समुदाय के लोग अल्लाह का शुक्रिया अदा करते हैं। (Photo Source: PTI/File)

रमजान का महीना खत्म होने को है। जामा मस्जिद के शाही इमाम के अनुसार, 7 जुलाई को ईद मनाई जाएगी। इस दिन मुस्लिम मस्जिदों में जाकर नमाज अदा करते हैं। ईद के दिन परिवार वाले और दोस्त इकट्ठे होकर एक दूसरे से गले मिलते हैं। सब लोग साथ में मिलकर खाना खाते हैं। हम आपको बता रहे हैं ईद क्यों और कैसे मनाई जाती है।

क्यों मनाई जाती है ईद-उल-फितर?
मुस्लिम कलैंडर में ईद-उल-फितर का अपना महत्व है। इसका कनेक्शन किसी ऐतिहासिक घटना से नहीं है। यह वह दिन होता है, जिस दिन मुस्लिम अल्लाह का शुक्रिया अदा करते हैं। अल्लाह का शुक्रिया विशेषकर रमजान के दिनों में उन्हें मजबूती देने के लिए अदा किया जाता है। रमजान का इस्लाम में बहुत बड़ा महत्व है। रमजान के एक महीने के दौरान सूरज उगने से लेकर डूबने तक उपवास रखा जाता है।

कैसे मनाई जाती है ईद ?
ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक एक वर्ष से दूसरे वर्ष में प्रवेश करने पर यह त्योहार मनाया जाता है। ईद नए चांद के दिखने पर मनाई जाती है। ईद के दिन लोग मस्जिदों में इकट्ठे होकर नमाज अदा करते हैं। इस दिन नए कपड़े पहने जाते हैं। नए-नए पकवान बनाए जाते है। ईद के दिन गिफ्ट और कार्ड्स भी एक दूसरे को दिए जाते हैं। ईद खुशी के तौर पर मनाई जाती है। यह वह खुशी होती है जो एक अहम काम पूरा करने पर मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.