ताज़ा खबर
 

EVM में कोई भी बटन दबाने पर निकली बीजेपी की पर्ची, ईसी ने मांगी रिपोर्ट

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अभ्यास के दौरान चाहे जो भी बटन दबाया गया उससे निकली सारी पर्चियां यह दिखा रही थीं कि वोट भाजपा को गया है।
ईसी ने भिंड़ में भाजपा की पर्ची देने वाली वीवीपीएटी पर मांगी रिपोर्ट। (FILE PHOTO)

चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश के भिंड में जिला निर्वाचन अधिकारियों से मीडिया में आ रहीं उन रिपोर्टों पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है जिनमें कहा जा रहा है कि एक अभ्यास कार्यक्रम के दौरान वीवीपीएटी (VVPAT) से केवल भाजपा के निशान वाली पर्चियां ही निकल रही थीं। भिंड में अगले सप्ताह उपचुनाव होना है और यह अभ्यास के लिए किया जा रहा था। वीडियो सामने आने के बाद विपक्षी पार्टियों के नेता ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगा रहे हैं। इस मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल मुख्य चुनाव आयुक्त से मिलेंगे। सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी की जांच की जानी चाहिए। जैसा मामला सामने आया है उस हिसाब से तो किसी भी दल को वोट दो बीजेपी को ही वोट पड़ेगा। केजरीवाल ने कहा कि मैंने भी इंजीनियरिंग की है। ईवीएम से छेड़छाड़ संभंव है।

इलेक्शन कमीशन के एक प्रवक्ता कहा,‘‘ हमने जिला निर्वाचन अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है और शाम तक हम इस संबंध में कोई जवाब देंगे।’’ वीवीपीएटी एक ऐसी मशीन होती है जिससे निकली पर्ची यह दिखाती है कि मतदाता ने किस पार्टी को वोट दिया है। मतदाता केवल सात सेकेंड़ तक इस पर्ची को देख सकता है इसके बाद यह एक डिब्बे में गिर जाती है और मतदाता इसे अपने साथ नहीं ले जा सकता।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अभ्यास के दौरान चाहे जो भी बटन दबाया गया उससे निकली सारी पर्चियां यह दिखा रही थीं कि वोट भाजपा को गया है। रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया कि मध्यप्रदेश की मुख्य चुनाव अधिकारी सलीना सिंह ने पत्रकारों को समाचार पत्रों में यह न्यूज नहीं देने के लिए कहा है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि अगर यह बात बाहर गई तो पुलिस थाने में हिरासत में रखा जाएगा यह कहते देखा गया था। हालांकि सलीना सिंह को वीडियो में अधिकारियों के साथ हंसी में यह बात कहते हुए दिखा गया है। इस वीडियो के सामने आने के बाद विपक्षी पार्टी के नेताओं ने इसे सोशल मीडिया पर शेयर करने के साथ चुनाव आयोग के सामने भी यह मामला उठाया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह, आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर वीडियो को शेयर कर बीजेपी पर निशाना साधा। सिसोदिया ने लिखा- “बटन कोई भी दबाओ, वोट कमल को पड़ेगा…पर्ची में कुछ भी आए, प्रेस में नहीं आना चाहिए… नहीं तो पत्रकार को थाने में बिठा देंगे। लोकतंत्र खत्म।”

दिल्ली: अरविंद केजरीवाल की चुनाव आयोग से मांग- "ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से करवाए जाएं MCD चुनाव"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. C
    Chandra Prakssh
    Apr 1, 2017 at 7:03 pm
    Finally an evidence towards a serious allegation of electronic rigging of elections recently held is surfacing. Wrongs canot be kept uder carpet for long and have to come out. It would have been better ,had the EC taken the allegations of mani tions with the EVMs seriously soon after they were levelled during the elections in the PC of Mayawati which would have stopped the bungling from getting moved forward after the first or second stage of elections in UP. Well the damage has been done and it is yet to be seen as to how the EC conducts the forthcoming elections with fool prof system to the satisfaction of all political parties and general public who will otherwise loose full confidence in the voting system. It is also to be seen as to how the Hon Supreme court takes today's exposure on EVM machines while deciding the ongoing litigation on the election process and the charges of mani tions during the recently held stàte embly elections.
    Reply
    1. K
      kripashankar
      Apr 1, 2017 at 8:59 pm
      Is ko evidence maan ne wale sab desh drohi hain......
      Reply
    सबरंग