ताज़ा खबर
 

डोकलाम विवाद पर बोले राजनाथ- हमने कभी पहले आक्रमण नहीं किया, चीन सही कदम उठाएगा

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि भारत ने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और देश की अपनी सीमाओं में विस्तार की कोई अभिलाषा नहीं है।
Author नई दिल्ली | August 21, 2017 15:23 pm
गृहमंत्री राजनाथ सिंह। (फोटो- पीटीआई)

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि भारत ने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और देश की अपनी सीमाओं में विस्तार की कोई अभिलाषा नहीं है। राजनाथ ने भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) द्वारा आयोजित एक समारोह में कहा, “भारत ने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और न ही उसकी अपनी सीमाओं के विस्तार की अभिलाषा है। सुरक्षा बल (सीमा पर) किसी भी स्थिति का मुकाबला करने के लिए सक्षम हैं। राजनाथ ने कहा कि भारत और चीन के बीच डोकलाम में जारी गतिरोध को ‘शीघ्र ही सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा, “हम युद्ध नहीं, शांति चाहते हैं।

भारत के साथ डोकलाम में जारी गतिरोध के बीच चीन ने देश के पश्चिमी हिस्से में सैन्याभ्यास किया है। समाचार पत्र लियान्हे जाओबाओ ने एक चीनी सैन्य अधिकारी के हवाले से कहा कि यह सैन्य अभ्यास ‘भारत में धाक जमाने’ के मकसद से किया गया है। सैन्य अभ्यास का संचालन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की वेस्टर्न थियेटर कमांड ने किया।

अभ्यास के स्थान और समय का खुलासा नहीं किया गया है। चाइना सेंट्रल टेलीविजन के मुताबिक, अभ्यास में पीएलए की 10 इकाईयों ने भाग लिया। तिब्बत, शिनजियांग, निंगिशया, चिंगहई, सिचुआन और चोंग्किंग नवगठित वेस्टर्न थियेटर कमांड के अधीन आते हैं। जुलाई में पीएलए ने भारत से सटे तिब्बत में सैन्य अभ्यास किया था।

चीन का कहना है कि उसकी सेनाएं ‘भारत के साथ सैन्य संघर्ष के लिए तैयार हैं, जिसकी सेनाएं डोकलाम में उसके क्षेत्र में मौजूद हैं।’ भारत-चीन सीमा पर सिक्किम के डोकलाम में भारत और चीनी सेनाओं के बीच तीन महीने से गतिरोध जारी है।जून में भारतीय सेनाओं ने डोकलाम में चीन द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण कार्य को रोक दिया था। भारत का कहना है कि यह विवादित क्षेत्र है। भारत और भूटान का कहना है कि डोकलाम भूटान का है, लेकिन चीन उस पर अपना दावा जताता है।चीन चाहता है कि भारत डोकलाम से अपनी सेनाएं हटा ले, जबकि भारत चाहता है कि भारतीय और चीनी सैनिक इस विवादित क्षेत्र से एक साथ हटें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.