ताज़ा खबर
 

राजनयिक दुष्कर्म मामला: सऊदी दूतावास को जवाब देने के लिए दी जा सकती है समयसीमा

नेपाल की दो महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी सऊदी अरब के एक राजनयिक से जुड़े मामले में सहयोग करने की भारत की मांग पर सऊदी दूतावास द्वारा जवाब..
Author नई दिल्ली | September 16, 2015 01:01 am

नेपाल की दो महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी सऊदी अरब के एक राजनयिक से जुड़े मामले में सहयोग करने की भारत की मांग पर सऊदी दूतावास द्वारा जवाब नहीं देने के चलते सरकार राजनयिक के खिलाफ कोई कार्रवाई करने से पहले दूतावास के जवाब के लिए समयसीमा तय करने पर विचार कर रही है।

सूत्रों ने कहा कि विदेश मंत्रालय यहां मिशन के अधिकारियों के संपर्क में है लेकिन उसे कोई जवाब नहीं मिला है। मंत्रालय ने गत गुरुवार को सऊदी अरब के राजदूत सऊद मोहम्मद अलसाती को बुलाया था और उनसे कहा कि आरोपी राजनयिक को मामले में जांच में सहयोग करना चाहिए।

समझा जाता है कि साउथ ब्लॉक में इस तरह की धारणा है कि सरकार को सऊदी अधिकारियों को जवाब देने के लिए समयसीमा देनी चाहिए क्योंकि उनके इस फैसले के लिए हमेशा इंतजार नहीं किया जा सकता कि वे अपने राजनयिक के साथ क्या करना चाहते हैं।

सऊदी अरब के सामने राजनयिक को वापस बुला लेने या अभियोजन की कार्यवाही के लिए उन्हें प्राप्त कूटनीतिक छूट छोड़ देने के विकल्प हैं। दूसरे विकल्प की संभावना नहीं लगती।

इस तरह की खबरें हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने परस्पर सहमति से मुद्दे को सुलझाने का फैसला किया है क्योंकि इससे भारत-सऊदी रिश्तों पर नकारात्मक असर पड़ने की संभावना है। हालांकि इस संबंध में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है।

इस बीच हरियाणा पुलिस ने गुड़गांव में राजनयिक के फ्लैट में दो नेपाली महिलाओं को कथित रूप से बंधक बनाने और उनके साथ दुष्कर्म करने के मामले पर राज्य के गृह विभाग को विस्तृत रिपोर्ट भेजी थी। हरियाणा पुलिस ने साफ किया है कि वे मामले में विदेश मंत्रालय के निर्देशों पर आगे बढ़ेंगे। सऊदी अरब दूतावास ने दोनों महिलाओं के आरोपों को गलत बताया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.