December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी: संसद में जारी गतिरोध पर पीएम नरेंद्र मोदी ने बुलाई कैबिनेट की बैठक

केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि वे (विपक्ष) बहस से भागने के बहाने ढूंढ रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (PTI Photo by Subhav Shukla)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (24 नवंबर) की शाम कैबिनेट की बैठक बुलाई है। नोटबंदी पर बहस के दौरान हंगामे के चलते राज्‍यसभा स्‍थगित होने के बाद पीएम ने यह फैसला किया। विपक्ष सदन से प्रधानमंत्री की गैरमौजूदगी पर हमलावार था और उसकी मांग थी कि उन्‍हें चर्चा में हिस्‍सा लेना चाहिए। राज्‍यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उनकी पार्टी सदन को चलने नहीं देगी अगर प्रधानमंत्री चर्चा से भागेंगे। विपक्ष की तरफ से सदन को अव्‍यवस्थित करने पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि वे (विपक्ष) बहस से भागने के बहाने ढूंढ रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि विपक्ष मुद्दे पर चर्चा से बचना चाहता है। उनके बयान पर सदन में हंगामा हो गया और विपक्षी सांसदों में ‘प्रधानमंत्री भाग गया’ के नारे लगाने शुरू कर दिए। जेटली ने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर सकारात्मक चर्चा चाहती है ताकि गतिरोध दूर हो सके। सरकार पहले सी सदन को फैसले के बारे में अवगत करा चुकी है। उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्ष डिमोनेटाइजेशन को ब्लंडर कह रहा है जबकि वो कॉमनवेल्थ घोटाले और 2जी घोटाले को ब्लंडर कहने की सोच भी नहीं सकते।

जेटली ने उन विपक्षी दलों पर भी हमला बोला जिनके नेता किसी न किसी स्कैंडल में फंस चुके हैं। उन्होंने कहा कि स्कैंडल से घिरे लोगों का दल ही आज नोट बैन के फैसले का विरोध कर रहा है। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि देश में सबसे ज्यादा काला धन साल 2004 से 2014 के बीच उत्पन्न हुआ है। उन्होंने कहा कि शीतकालीन सत्र के पहले दिन इस मुद्दे पर चर्चा बिना किसी पूर्व शर्त के हुई लेकिन उसके अगले दिन से ही विपक्ष इस चर्चा में रोड़े अटका रहा है और अनर्गल तर्कें दे रहा है।

विमुद्रीकरण के मुद्दे पर मुख्‍य विपक्षी कांग्रेस की तरफ से गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राज्‍यसभा में मोर्चा संभाला। सरकार पर आक्रामक होते हुए उन्‍होंने कहा कि जिस तरह से इस फैसले को लागू किया गया है, उससे साफ जाहिर होता है कि नरेंद्र मोदी सरकार बुरी तरह से फेल हो रही है।

सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि नोटबंदी से चार लाख लोगों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी है। उन्होंने कहा कि टेक्सटाइल उद्योगों में कार्यरत करीब 3.19 करोड़ मजदूरों को वेतन नहीं मिल पा रहा है।

वीडियोः राज्यसभा में नोटबंदी पर मनमोहन सिंह ने कहा ये संगठित लूट है-

वीडियोः जानिए भारत में कब कब हुआ है विमुद्रीकरण-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 6:33 pm

सबरंग