ताज़ा खबर
 

Delhi hit-and-run case: नाबालिग पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज

पुलिस के मुताबिक, कार की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे के आसपास थी।
Author नई दिल्‍ली | April 9, 2016 16:50 pm
मृतक सिद्धार्थ शर्मा हादसे वाली जगह के करीब ही रहते थे। सोमवार रात सड़क क्रॉस करते वक्‍त वे हादसे के शिकार हो गए थे।

शहर के सिविल लाइन्स इलाके में अपने पिता की मर्सीडीज से एक व्यक्ति को कथित तौर पर कुचल डालने वाले 17 वर्षीय किशोर पर , लापरवाही से गाड़ी चलाने के उसके पिछले रिकॉर्ड को देखते हुए गैर इरादतन हत्या का आरोप लगाया गया है। डीसीपी नॉर्थ मधुर वर्मा ने बताया ‘‘सीसीटीवी फुटेज की जांच करने पर, इस बात की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता कि आरोपी किशोर रिहायशी इलाके में बहुत तेजी से गाड़ी चला रहा था जिसकी वजह से पीड़ित की जान गई।’’

उन्होंने बताया ‘‘जांच के दौरान यह भी पाया गया कि इस आरोपी किशोर का तेजी से और लापरवाही से गाड़ी चलाने का यह पहला अपराध नहीं है। पहले भी वह इसी तरह गाड़ी चलाते हुए एक अन्य वाहन के साथ दुर्घटना कर चुका है।’’ पिछले साल इस किशोर का तेज गति से वाहन चलाने और गलत जगह पर पार्किंग करने के लिए तीन बार चालान हुआ था।

वर्मा ने बताया ‘‘इन तथ्यों पर गौर करते हुए सिद्धार्थ शर्मा की मौत गैर इरादतन हत्या का मामला है तथा प्राथमिकी में भारतीय दंड संहिता की धारा 304 जोड़ दी गई है।’’ एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछली बार दिल्ली पुलिस ने 17 साल पहले बीएमडब्ल्यू मामले में संजीव नंदा के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया था। 10 जनवरी 1999 को दक्षिण दिल्ली के लोधी कालोनी इलाके में तड़के तेज गति से जा रही बीएमडब्ल्यू कार से कुचल तीन पुलिसकर्मियों सहित छह लोगों की मौत हो गई थी। यह कार कथित तौर पर नंदा चला रहा था

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.