April 23, 2017

ताज़ा खबर

 

अरविंद केजरीवाल का आरोप, नोट बैन से पहले ही बीजेपी के लोगों ने काला धन ठिकाने लगा दिया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार (8 नवंबर) को घोषणा की थी कि 500 और 1000 के नोट 8 नवंबर की रात से प्रचलन से बाहर हो गए हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटो)

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भारतीय जनता पार्टी पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने शनिवार को दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर कहा कि 500 और 1000 का नोट बैन करने से पहले ही बीजेपी के लोगों ने अपना माल ठिकाने लगा दिया। उन्होंने कहा कि दो दिन पहले देश में भ्रष्टाचार कम करने के नाम पर असल में देश में बहुत बड़े स्तर पर घोटाले को अंजाम दिया जा रहा है। केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेन्स में इसके सबूत के तौर पर एक वीडियो क्लिपिंग भी दिखाई। केजरीवाल ने कहा, “मोदी जी का सर्जिकल स्ट्राइक काला धन के ऊपर नहीं है बल्कि आम जनता के वर्षों से जुटाए गए मेहनत के पैसों पर स्ट्राइक है।” उन्होंने देशहित में नोट बैन को तत्काल वापस लेने की मांग की।

इससे पहले शुक्रवार को भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी (सीपीआई-एम) ने भी पश्चिम बंगाल बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि नोट बैन किए जाने से पहले भारतीय जनता पार्टी ने तीन करोड़ रुपये काला धन को सफेद किया है। सीपीआईएम ने कहा है कि चूंकि बीजेपी नेताओं को इस बारे में पहले से जानकारी हो गई थी कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 500 और 1000 रुपये के नोट को बैन करने की घोषणा करने वाले हैं इसलिए पार्टी नेताओं ने पहले से जमा तीन करोड़ रुपये कालाधन को सफेद कर लिया।

वीडियो देखिए: 500, 1000 के नोट बदलवाने हैं? लोगों के पास आ रहीं ऐसी फ्रॉड कॉल्‍स

सीपीआईएम के वरिष्ठ नेता रबिन देव ने कहा, “पश्चिम बंगाल की बीजेपी इकाई ने प्रधानमंत्री की घोषणा से एक घंटे पहले मंगलवार को कोलकाता के एक बैंक में रुपये जमा कराए हैं।” उन्होंने कहा, “केन्द्र सरकार के इस कदम से पश्चिम बंगाल में हो रहे उप चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश की गई है क्योंकि चुनाव खर्च के लिए अब बीजेपी के सिवा किसी भी पार्टी के पास पैसे नहीं हैं।”

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार (8 नवंबर) को घोषणा की थी कि 500 और 1000 के नोट 8 नवंबर की रात से प्रचलन से बाहर हो गए हैं। और उसकी जगह 500 और 2000 के नए नोट जारी किए जाएंगे। 9 नवंबर को देशभर के सभी बैंकों और एटीएम को बंद रखा गया था। उसके बाद 10 नवंबर से बैंकों में पुराने 500 और 1000 के नोट बदले जा रहे हैं लेकिन इसकी सीमा मात्र 4000 रुपये तक ही है। इससे देशभर के लोगों को परेशानी हो रही है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 10:18 am

  1. S
    Sukhbir Singh
    Nov 12, 2016 at 9:15 pm
    AOR TUMKO MAOKA NAHI MILA KALA DHAN NIKALNE KA
    Reply
    1. A
      Arun Kumar
      Nov 12, 2016 at 7:21 am
      साच को आंच नहीं. केजरीवालजी ी कह रहे है. भौक तो वो रहे है जिनको सचाई पे बिस्वास नहीं है. मोदीजी के कुते
      Reply
      1. C
        Chanakya sharma
        Nov 12, 2016 at 7:14 am
        He have no proof and barking as like dog . He is a lier . He is taken benefit of benefit of freedom of speech . But if he have proof then come with actual proof . He is corrupt and his followers also corrupt. I have proof last years no rain but PWD pay money to contractor for water clogs area. This is in file and also concile from date of rain and bill dates . But we have no time to stop it . With out rain PWD deppt run water pump how ? Why not you paper ( Journalist ) gave this news .
        Reply
        1. F
          farzi kumar
          Nov 12, 2016 at 7:17 pm
          Kyu punjab chunav ke liye ford india se aaya paisa raddi me badal jaane ka vishwas nahi ho raha kya.
          Reply
          1. F
            farzi kumar
            Nov 12, 2016 at 7:14 pm
            पंजाब चुनाव के लिए जमा किये गए नोटों का रद्दी में बदल जाने से मानसिक संतुलन गिर गया है क्योंकि हिला हुआ तो पहले से ही था
            Reply
            1. V
              Vijay
              Nov 12, 2016 at 6:43 am
              इस को भोंकने के अलावा कोई काम नहीं ?
              Reply
              1. B
                Binay
                Nov 12, 2016 at 7:15 am
                क्यों सच बर्दास्त नहीं हुआ क्या ?
                Reply
              2. V
                Vijay
                Nov 12, 2016 at 11:28 pm
                इस मोती चमड़ी वाले को कैसे पता की भाजपा ने ऐसा किया. भाजपा को चाहिए इस पर १०० करोड़ का मान हानी का दवा करे, तभी इस को अक्ल आएगी.
                Reply
                1. शोम रतूड़ी
                  Nov 12, 2016 at 6:05 pm
                  अगर केजरीवालजी किसी बात का विरोध करते हैं तो निश्चित मानिये वह बात ी है.इस समय ज्यादातर विपक्ष पुराने नोटों के निरस्तीकरण से इसलिए परेशान हैं कि उनका कला धन डूब गया,जिस कदम का आम जनता स्वागत कर रही है उसका विपक्ष विरोध कर रहा है यह साबित करने के लिए काफी है कि विपक्ष जनता से क्त गया है,थोड़ी बहुत परेशानी के बावजूद जनता इस कदम से खुश है तो यह यों ही नही है,जनता जानती है कि काले धन से उन्हें कितनी परेशानी होती है हर जगह रिश्वत का बोलबाला है आम जनता पिसती रहती है.
                  Reply
                  1. Load More Comments

                  सबरंग