ताज़ा खबर
 

दोस्ती हुई कलंकित: तेजाब फेंकने वाला आरोपी था महिला डॉक्टर का दोस्त, 4 लोग गिरफ्तार

राजौरी गार्डन इलाके में मंगलवार को एक महिला डॉक्टर पर तेजाब फेंकने के मामले में गुरुवार को पुलिस ने चार लोगों को दबोचा। इसमें दो नाबालिग है। वारदात को महिला डॉक्टर के साथी डॉक्टर ने ही अंजाम दिलवाया। वह महिला डॉक्टर से एकतरफा प्यार करता था और लड़की की ओर से मना करने पर उसने […]
Author December 26, 2014 09:28 am
वारदात को महिला डॉक्टर के साथी डॉक्टर ने ही अंजाम दिलवाया

राजौरी गार्डन इलाके में मंगलवार को एक महिला डॉक्टर पर तेजाब फेंकने के मामले में गुरुवार को पुलिस ने चार लोगों को दबोचा। इसमें दो नाबालिग है। वारदात को महिला डॉक्टर के साथी डॉक्टर ने ही अंजाम दिलवाया। वह महिला डॉक्टर से एकतरफा प्यार करता था और लड़की की ओर से मना करने पर उसने इस पूरे खौफनाक अपराध की साजिश रची। इसके लिए आरोपी डॉक्टर और उसके साथी ने एसिड अटैक के लिए दो युवकों को चुना और उन्हें पैसे देकर इस काम को सौंपा। वारदात में प्रयोग में लाई गई मोटरसाइकिल और महिला का पर्स बरामद कर लिया गया है। इस काम को अंजाम देने का लिए 25000 की सुपारी दी गई थी।

इस घटना का मास्टरमाइंड डॉ अजय यादव है, जो खुद डॉक्टर है। वह पीड़ित महिला डॉक्टर को पिछले दस सालों से जानता था। दोनों ने बेलारूस में साथ में डॉक्टरी की पढ़ाई की। वह पीड़िता से एकतरफा प्यार करता था, लेकिन पीड़िता ने उसे इनकार कर दिया था। इससे नाराज आरोपी डॉ अजय ने अपने अन्य मित्र वैभव के साथ मिलकर महिला डॉक्टर से बदला लेने की सोची। इसके लिए उसने अपने ही दो दोस्तों को हमला करने की सुपारी दी। हमला करने वाले अन्य आरोपी मदनगीर के रहने वाले हैं। पुलिस आरोपियों की उम्र की जांच कर रही है।

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) पुरुषोत्तम कुमार ने बताया कि तेजाब हमले में दो आरोपियों के नाबालिग होने की आशंका है। इस समय पुलिस उनकी पहचान का खुलासा नहीं कर सकती लेकिन निश्चित रूप से इस मामले को सुलझा लिया गया है। मंगलवार सुबह में, दो अज्ञात हमलावरों ने 30 साल की एक महिला डॉक्टर से उसका बैग छीनने की कोशिश की थी और उस पर तेजाब फेंक कर हमला किया था। पुलिस ने बताया कि जब महिला ने इसका विरोध किया तो मोटरसाइकिल सवारों ने डॉक्टर पर तेजाब जैसा एक रासायनिक पदार्थ फेंक कर हमला किया और उसका बैग लेकर फरार हो गए। घटना में पीड़िता बुरी तरह झुलस गई और उसे उसी अस्पताल ले जाया गया जहां पर वह काम करती है। वहां से उसे एम्स अस्पताल भेज दिया गया।

पुलिस ने बताया कि वैभव दो किशोरों से मिला और इस काम के बदले में 25,000 रुपए देने की बात पर सौदा पक्का हुआ। वैभव ने उन दोनों को 22,000 रुपए एडवांस दिए। योजना को अंजाम देने में कोई कमी न रहे इसलिए डॉ यादव ने इसका परीक्षण भी किया। दिल्ली पुलिस के संयुक्त आयुक्त तजेंदर लूथरा ने बताया कि उसे हाल ही में मालूम हुआ कि महिला के परिवार के सदस्य उसकी शादी कहीं और करने वाले हैं। इससे नाराज होकर उसने पीड़िता को सबक सिखाने की ठान ली। उसने अपने करीबी मित्र वैभव, जो पहले उसके साथ काम करता था-को इस काम में अपने साथ मिला लिया।

लूथरा ने बताया कि नारायणा के एक कॉल सेंटर में काम करने वाले वैभव ने उसे बताया कि वह कुछ ऐसे लोगों को जानता है जो उसकी साजिश को अंजाम दे सकते हैं। लूथरा ने कहा कि यादव अपनी योजना को सफल बनाना चाहता था। इसके लिए उसने आरोपी किशोरों की मदद से हमले का परीक्षण भी किया। यादव ने किशोरों से कहा कि वह परीक्षण के तौर पर एक सिरिंज में पानी भरकर उसपर डालें। यादव ने लड़की पर 17 दिसंबर को तेजाब फेंकने की योजना बनाई थी, लेकिन उस दिन वह कार इस्तेमाल कर रही थीं, इसलिए यादव की योजना अमल में नहीं आ पाई। जांच के दौरान पता चला कि आरोपियों (नाबालिग) ने पीड़िता का उसके घर से पीछा किया। यादव ने शुरू में इस अपराध में अपनी संलिप्तता से इनकार किया था, लेकिन बाद में उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। पीड़िता के परिवार के सदस्य उसके ‘सबसे अच्छे मित्र’ की करतूत के बारे में जानकर स्तब्ध रह गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Juhi Sharma
    Dec 26, 2014 at 3:12 pm
    Visit Website for Latest Gujarati News :www.vishwagujarat/gu/
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग