ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्‍ट्राइक: रक्षा मंत्रालय का संसदीय समिति को ब्रीफ करने से इनकार, कहा- गोपनीय है मामला

संसद की रक्षा कमेटी की 6 अक्‍टूबर को होने वाली बैठक 14 अक्‍टूबर तक के लिए स्‍थगित कर दी गई है।
Author नई दिल्ली | October 7, 2016 13:55 pm
रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर व रक्षा मामलों की संसदीय समिति के प्रमुख मेजर जनरल बीसी खंडूरी।

रक्षा मंत्रालय ने सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स पर संसद की रक्षा कमेटी को ब्रीफ करने से इनकार कर दिया। भाजपा सांसद मेजर जनरल बीसी खंडूरी की अध्‍यक्षता वाली कमेटी ने मंत्रालय से सेना द्वारा पीओके में की गई सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स पर ब्रीफिंग की मांग की थी। रक्षा मंत्रालय ने ऑपरेशंस की गोपनीयता का हवाला देते हुए इसे नामंजूद कर दिया। यह ब्रीफिंग 6 अक्‍टूबर को होने वाली बैठक में दी जानी थी, मगर इस सप्‍ताह की शुरुआत में सदस्‍यों को बताया गया कि बैठक के एजेंडे में बदलाव के साथ अब इसे 14 अक्‍टूबर के लिए टाल दिया गया है। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि उन्‍होंने सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स की विस्‍तृत जानकारी संसदीय समिति को देने से इनकार किया है। मंत्रालय के मुत‍ाबिक, यह जानकारी ‘गोपनीय है जिसका खुलासा नहीं किया जा सकता।” हालांकि मेजर जनरल खंडूरी ने द इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया कि ”कमेटी इन ऑपरेशंस के बारे में और जानना चाहती थी इसलिए हमने डिफेंस मिनिस्‍ट्री से ब्रीफिंग के लिए कहा था। डीजीएमओ ने देश को पहले ही जानकारी दी है और हमें भी दी जाएगी।”

वीडियो में देखें- कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने सर्जिकल स्ट्राइक पर क्या कहा?

पीआरएस लेजिस्‍लेटिव रिसर्च के अध्‍यक्ष, एमआर माधवन का कहना है कि ”लोकसभा की प्रक्रिया के नियमों में निश्चित विषयों की सूची है जिन्‍हें चर्चा या सवालों के लिए नहीं उठाया जा सकता है। जहां इनमें राष्‍ट्रीय सुरक्षा का सीधा जिक्र नहीं है, लिस्‍ट में ‘गोपनीय प्रकृति की सूचना के खुलासे, जिसमें सूचना का खुलासा न करने का संवैधानिक, सांविधिक या पारंपरिक दायित्व हो’ शामिल हैं। मेरा अनुमान है कि सैन्‍य कार्रवाइयां इसी श्रेणी में आती हैं।”

READ ALSO: बीजेपी नेताओं का दावा- सर्जिकल स्‍ट्राइक में 38 नहीं, 200 आतंकी मारे, पर्रिकर ने भी मिलाई हां में हां

खंडूरी ने पुष्ट किया कि 6 अक्‍टूबर को होने वाली बैठक 14 अक्‍टूबर तक के लिए स्‍थगित कर दी गई है। हालांकि द इंडियन एक्‍सप्रेस को पता लगा है कि 6 अक्‍टूबर की बैठक के लिए सदस्‍यों को भेजे गए तय एजेंडा में सिर्फ ‘नियंत्रण रेखा पर हुई सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स पर रक्षा मंत्रालय के प्रतिनिधियों द्वारा ब्रीफ‍िंंग’ शामिल था। 14 अक्‍टूबर की बैठक के लिए ”माउंटेन स्‍ट्राइक कॉर्प्‍स- सेना में हथियारों व गोला-बारूद की कमी’ को भी शामिल किया गया है।

Read Also: सर्जिकल स्ट्राइक: अमित शाह ने किया ऐलान- जनता के बीच ले जाएंगे सेना का हौसला बढ़ाने का मुद्दा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 7, 2016 1:23 pm

  1. No Comments.
सबरंग