June 25, 2017

ताज़ा खबर
 

दलाईलामा करेंगे अरुणाचल प्रदेश की यात्रा, चीन हो सकता है परेशान

विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘दलाईलामा सम्मानित आध्यात्मिक हस्ती एवं भारत के माननीय अतिथि हैं। वह देश के किसी भी हिस्से में यात्रा करने के लिए स्वतंत्र हैं।’

Author नई दिल्ली | October 27, 2016 19:36 pm
तिब्बती बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा। (फाइल फोटो)

तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाईलामा अगले साल के प्रारंभ में अरुणाचल प्रदेश की यात्रा करने वाले हैं जिससे अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत हिस्सा बताने वाले चीन का सरकारी प्रतिष्ठान परेशान हो सकता है। दलाईलामा राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के निमंत्रण पर अरुणाचल प्रदेश की यात्रा करेंगे। समझा जाता है कि केंद्र ने इसकी मंजूरी दे दी है। आध्यात्मिक नेता दलाईलामा के बौद्धमठ तवांग जाने की भी संभावना है। पिछले हफ्ते चीन ने अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा की 22 अक्तूबर की तवांग यात्रा पर यह कहते हुए कड़ी प्रतिक्रिया दी थी कि राजदूत ने विवादित क्षेत्र का दौरा किया। जब दलाईलामा की यात्रा के बारे में पूछा गया तो विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, ‘दलाईलामा सम्मानित आध्यात्मिक हस्ती एवं भारत के माननीय अतिथि हैं। वह देश के किसी भी हिस्से में यात्रा करने के लिए स्वतंत्र हैं।’

स्वरूप ने कहा, ‘यह एक तथ्य है कि अरुणाचल प्रदेश में बौद्ध धर्मावलंबियों में अच्छी-खासी संख्या में उनके अनुयायी हैं जो उनका आशीर्वाद चाहते हैं। वह पहले भी राज्य की यात्रा कर चुके हैं और यदि वह दोबारा वहां जाते हैं तो हमें कुछ असामान्य नजर नहीं आता।’ अरुणाचल प्रदेश सरकार के सूत्रों ने बताया कि राज्य दलाईलामा की यात्रा को आशाभरी निगाहों से देख रहा है। चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा बताता है और वह अक्सर भारतीय नेताओं, विदेशी अधिकारियों एवं दलाईलामा की इस क्षेत्र की यात्राओं का विरोध करता है। अमेरिकी राजदूत की यात्रा के बाद चीन ने अमेरिका को चेतावनी तक दे डाली थी कि चीन-भारत सीमा विवाद में उसके हस्तक्षेप से यह और जटिल बन जाएगा और सीमा पर बड़ी मशक्कत से कायम हुई शांति भंग हो सकती है। सूत्रों के अनुसार दलाईलामा की यात्रा मार्च में हो सकती है।

Video : जनसत्ता की पूरी टीम की तरफ से आप सबको दिवाली और धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 7:35 pm

  1. No Comments.
सबरंग