ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर संतुलित बयान दें राजनीतिक दल: अतुल कुमार अंजान

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक की असलियत को लेकर देश में जारी सियासी बयानबाजी के बीच भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी :भाकपा: ने इस पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि ऐसे हालात में सभी राजनैतिक दलों को संतुलित ढंग से अपनी बात रखनी चाहिए।
Author बलिया | October 5, 2016 16:41 pm
सीपीआई नेता अतुल कुमार अंजान

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक की असलियत को लेकर देश में जारी सियासी बयानबाजी के बीच भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी :भाकपा: ने इस पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि ऐसे हालात में सभी राजनैतिक दलों को संतुलित ढंग से अपनी बात रखनी चाहिए। भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अंजान ने आज ‘भाषा’ से बातचीत में देश में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर हो रही चर्चा पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि हालात को देखते हुए राजनेताओं तथा मीडिया को संतुलित भाषा का प्रयोग करना चाहिए। ऐसी बयानबाजी कदापि नहीं होनी चाहिए जिसका कोई दूसरा अर्थ लगाया जाए। सर्जिकल स्ट्राइक से सम्बंधित साक्ष्य के बारे में विवरण को सार्वजनिक करने की उठ रही मांग को लेकर पूछे जाने पर भाकपा नेता ने कहा कि जब देश के सभी राजनैतिक दलों ने केंद्र सरकार व सेना पर विश्वास और समर्थन जता दिया है तो ऐसे में यह मामला कें्रद सरकार पर छोड़ देना चाहिये।


मालूम हो कि मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीओके में भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो फुटेज जारी करने की कथित तौर पर मांग की थी, जिसके जवाब में केन््रदीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस मांग को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि जहां सारा देश इस मुद्दे पर एक सुर में बोल रहा है, वहीं केजरीवाल के इस बयान ने पाकिस्तानी मीडिया और जनता को भारतीय सेना की कार्रवाई के बारे में सवाल उठाने का मौका मिल गया है।

ंजान ने देश की मीडिया में सुरक्षा को लेकर चल रही परिचर्चा पर नाराजगी व्यक्त की और कहा कि इलेक्ट्रानिक मीडिया ने देश के अंदर युद्घ का माहौल तैयार कर दिया है। उन्होंने सवाल किया कि आज देश में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर सुरक्षा संबंधी तैयारियों को लेकर जिस तरह से परिचर्चा हो रही है, क्या पाकिस्तान में इलेक्ट्रानिक मीडिया इस तरह देश के गुप्त मिशन की चर्चा करता है।

उन्होंने कहा कि कें्रद सरकार को देश की जनता व सभी राजनैतिक दलों को विश्वास में लेना चाहिए। इस मसले पर भाकपा कें्रद सरकार और सेना के साथ है। अंजान ने कहा कि देश संकट के दौर से गुजर रहा है। ऐसे में सभी राजनीतिक दलों को संतुलित होकर बयानबाजी करनी चाहिए। कें्रद में सत्ता में होने के कारण भाजपा नेताओं पर जिम्मेदारी ज्यादा है कि वह संतुलित बोलें। यह चुनावी रणनीति बनाने का मौका नहीं है। भाजपा इस मसले को चुनाव के नजरिये से ना देखे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग